आईडी कार्ड मांगा तो भागा, पुलिस ने पकड़ा

फर्जी फूड ऑफिसर ने धमकाया नमकीन कारोबारियों को
इंदौर। शहर के कुछ नमकीन कारोबारियों को नकली खाद्य अधिकारी बनकर धमकाया गया। इसकी शिकायत मिलने पर प्रशासन ने एफआईआर दर्ज करवाई और इस संबंध में नरेन्द्र कौशल नामक व्यक्ति को पकड़ा है। उसने कुछ कारोबारियों को फोन पर धमकाया और ऑनलाइन पेमेंट दो हजार रुपए तक भुगतान करने को कहा। जब कुछ कारोबारियों ने आईडी कार्ड मांगा तो वह भाग खड़ा हुआ। नकली खाद्य अधिकारी बनकर इन कारोबारियों को फोन कर कहा कि वह मिलावटी सामग्री के मामले में उनके खिलाफ कार्रवाई करेगा। एरोड्रम पुलिस ने नवीन जैन, छत्रपति नगर की रिपोर्ट पर नरेंद्र कौशल के खिलाफ केस दर्ज किया है। नवीन की कालानी नगर में महावीर नमकीन दुकान है। शुक्रवार दोपहर में नवीन के मोबाइल पर दो अलग अलग नंबरों से फोन आया और कहा कि मैं खाद्य अधिकारी बोल रहा हूं। तुम्हारी दुकान में मिलावटी और घटिया मिठाई और नमकीन बनता है। दो बार उसने फोन लगाया, तो जैन को शंका हुई। उन्होंने कौशल को मिलने बुलाया और कहा कि सेटिंग कर लेते हैं। वो मिलने आया और दो हजार रुपए की मांग करने लगा, जब उससे आईडी कार्ड मांगा तो आनाकानी करने लगा। जैन ने उसे पकडऩे की कोशिश की, तो धक्का देकर भाग निकला। टीआई राहुल शर्मा ने सीसीटीवी कैमरे चेक कराए, तो मुलजिम की पहचान हो गई और उसे दबोच लिया। उसने दो-तीन साथियों के और नाम बताए हैं, जो सैंपल लेने के नाम पर ठगी कर चुके हैं। उनसे कई घटनाओं के बारे में जानकारी मिलेगी।

जिला प्रशासन को शिकायत की थी
इन दिनों पुलिस-प्रशासन खाद्य विभाग की सहायता से मिलावट खोरों के खिलाफ कार्रवाई कर रहा हैं। वहीं अभी मिठाई-नमकीन कारोबारियों ने आयोजन भी किया, जिसमें संकल्प लिया कि इंदौर में खाद्य सामग्री गुणवत्ता वाली ही बनाई जाएगी और ऐसे मिलावट करने वालों को ना तो एसोसिएशन की सदस्यता दी जाएगी और ना ही किसी तरह का प्रश्रय देंगे। कलेक्टर मनीष सिंह की पहल पर खाद्य गौरव नामक कार्यशाला का आयोजन दो दिन पहले किया गया था। वहीं अपर कलेक्टर डॉ. अभय बेड़ेकर ने बताया कि कुछ नमकीन कारोबारियों ने शिकायत की कि उन्हें किसी खाद्य अधिकारी का फोन आ रहा है, जो दुकान में मिलावटी नमकीन व मिठाई बनाई जाने पर कानूनी कार्रवाई करने की धमकी दे रहा है और अगर कानूनी कार्रवाई से बचना है तो उन्हें पैनल्टी देना होगी, जिस पर नरेन्द्र कौशल नाम के नकली खाद्य अधिकारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई। कुछ दुकानदारों ने कहा कि जब उससे आईडी मांगी तो वह घबराकर भाग गया।

admin