आतंकवादी हिदायतुल्ला मलिक जम्‍मू से गिरफ्तार, पिस्तौल व ग्रेनेड बरामद

जम्मू। जम्मू कश्मीर पुलिस ने इसकी पुष्टि की है। प्रारंभिक पूछताछ में यह पता चला है कि वह जम्मू में आतंकी हमले की योजना बना रहा था। लश्करे मुस्तफा कश्मीर घाटी में जैशे मुहम्मद का ही एक अंग है। जम्मू एसएसपी श्रीधर पाटिल ने बताया कि जम्मू में कुंजवानी के पास आतंकी हिदायतुल्ला मलिक को गिरफ्तार किया गया।

उसके कब्जे से एक पिस्तौल और एक ग्रेनेड बरामद किया गया है। जम्मू के आइजी मुकेश सिंह ने ट्वीट करते हुए इसकी जानकारी साझा की। उन्होंने बताया कि जैशे मुहम्मद का ही आतंकी गुट लश्करे मुस्तफा का आतंकी हिदायतुल्ला को पकड़ा गया है। पुलिस उसे गिरफ्तार कर आतंकवादी संबंधी अन्य जानकारियां हासिल करने में जुटी हुई है।

आतंकी को जम्मू के किस इलाके से पकड़ा गया इसका खुलासा पुलिस अभी पूरी तरह से नहीं कर रही है लेकिन पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि लश्करे मुस्तफा आतंकी गुट के आतंकी हिदायतुल्ला मलिक को जम्मू के कुंजवानी स्थित विशाल मेगा मार्ट के करीब से पकड़ा गया है।

कुछ सूत्रों ने यह भी बताया कि उक्त आतंकी जम्मू में छिपने की फिराक में पिछले कई दिनों से आया हुआ था। अनंतनाग पुलिस ने इस संबंध में जम्मू पुलिस ने आतंकी की जानकारी सांझा की तो इसके उपरांत आतंकी हिदातुल्ला मलिक को पकड़ने में सफलता हासिल हुई है।

अधिकारियों ने बताया कि कश्मीर में गत दो वर्षों के भीतर पांच नए आतंकी संगठन टीआरएफ, पीएएफएफ, जम्मू-कश्मीर गजनवी फोर्स, लश्कर-ए-मुस्तफा और कश्मीर टाइगर्स सक्रिय हैं। लश्करे मुस्तफा आतंकी संगठन की गतिविधि अगस्त 2020 के अंतिम सप्ताह के दौरान पहली बार कश्मीर घाटी में महसूस की गई थी।

लश्करे मुस्तफा आतंकी संगठन का कमांडर हिदायतुल्ला शोपियां जिला का रहने वाला है। उसका कोड नाम हसनैन के नाम से भी जाना जाता है। इसी संगठन के आतंकवादियों ने नवंबर 2020 में शोपियां में जम्मू-कश्मीर बैंक की एक कैश वैन से 60 लाख रुपये लूटे थे।

admin