कोरोना संक्रमण से अब सुरक्षित रहने का मिला भरोसा

इंदौर। कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण के लिए एक माह से टीकाकरण के दौर चल रहे हैं और 28 दिन बाद के दूसरे डोज भी लगना शुरू हो गए हैं। शनिवार को पहले दौर में 561 हैल्थ केयर वर्कर्स को दूसरा डोज लगाया गया। इस दौरान किसी को भी रिएक्शन जैसी कोई शिकायत नहीं हुई। अब दूसरे डोज का टीकाकरण नियमित चलेगा। शनिवार को दूसरे डोज के पहले दौर में एमवाय अस्पताल, कर्मचारी राज्य बीमा निगम, अरबिंदो तथा अपोलो राजश्री सहित पांच सेंटर बनाए गए थे। इस बार इसके लिए टारगेट तय नहीं था लेकिन दिनभर टीकाकरण की व्यवस्था थी। इसमें 561 हैल्थ केयर वर्कर्स को टीके लगाए गए। इनमें अधिकांश ऐसे थे जो खुद ही जागरूक थे और उन्होंने पहला डोज 16 जनवरी को लगाया था। तब पहले दिन 75.4 फीसदी टीकाकरण हुआ था। बहरहाल, इनमें से अधिकांश ने दूसरे डोज के टीके लगवाए और कोरोना संक्रमण को लेकर अब खुद को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

…इधर दूसरे मॉपअप राउण्ड में मात्र 18 फीसदी टीकाकरण हुआ
एक ओर शहर में लगातार बढ़ रहे संक्रमण को लेकर जिला प्रशासन चिंता में है। कमिश्नर डॉ. पवन कुमार शर्मा ने कोरोना वायरस के आरएनए में लगातार हो रहे बदलाव (म्यूटेशन) को लेकर चिकित्सा तंत्र को सक्रिय और अपडेट रखने के उद्देश्य से सौ सैम्पल जीनोम अनुक्रमण के लिए दिल्ली भिजवाए हैं तो दूसरी ओर टीकाकरण के प्रति अभी भी बचे हुए वर्कर्स गंभीर नहीं हैं। शनिवार को पहले चरण में बचे हैल्थ केयर और दूसरे चरण में बचे फ्रंट लाइन वर्कर्स के लिए शनिवार को दूसरा मॉपअप राउण्ड हुआ। इसके लिए 35 सेंटर बनाए गए थे। इनमें 5371 वर्कर्स को टीके लगाने का लक्ष्य रखा गया था। इनमें से 977 ने ही टीके लगवाए जबकि 4394 अभी भी बचे हैं। इस तरह मात्र 18.19 फीसदी ही टीकाकरण हुआ।

admin