तेलंगाना में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों पर मुख्यमंत्री ने लगाया विराम

हैदराबाद। तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) ने राज्य में नेतृत्व परिर्वतन को लेकर लग रहीं अटकलों पर आज विराम लगा दिया है। मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने अपनी पार्टी विधायकों की अनावश्यक बयानबाजी करने को लेकर नाराजगी भी जताई।

रविवार को तेलंगाना भवन में टीआरएस की कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष व मुख्यमंत्री ने विभिन्न मुद्दों पर नेताओं के साथ विमर्श किया और सभी को जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने राज्य में नेतृत्व बदलने की अटकलों विराम लगाते हुए कहा कि वह पूर्ण रूप से स्वास्थ्य हैं और अगले दस साल तक राज्य का नेतृत्व करते रहेंगे। नेतृत्व परिवर्तन को लेकर पार्टी के विधायकों के अनावश्यक बयान पर नाराज़गी व्यक्त करते हुए कहा कि पार्टी का कोई भी नेता आज के बाद मुख्यमंत्री बदलने को लेकर किसी भी तरह की बयानबाजी नहीं करेगा। उन्होंने बताया कि अप्रैल माह में टीआरएस की एक विशाल जनसभा करने की तैयारी चल रही है।

बैठक में मुख्यमंत्री राव ने पार्टी नेताओं को 12 फरवरी से पार्टी की सदस्यता अभियान शुरू करने और 01 मार्च से ग्राम स्तर से राज्यस्तर तक सभी पार्टी कमेटियों के गठन प्रक्रिया शुरू करने का आदेश दिया। उन्होंने प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र में 50 हजार सदस्य बनाने का सुझाव दिया गया। उन्होंने आशा व्यक्त की कि नागार्जुन सागर उपचुनाव में टीआरएस का उम्मीदवार जीत हासिल करेगा।

उन्होंने कहा कि ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम के महापौर के लिए चुनाव के दिन ही महापौर और उपमहापौर के उम्मीदवार की घोषणा की जाएगी। पार्टी के निर्वाचित पार्षद घोषित उम्मीदवारों का समर्थन करेंगे उन्होंने कहा कि राज्य में दो एमएलसी सीट के साथ वरंगल कार्पोरेशन और नागार्जुन सागर उपचुनाव में टीआरएस की जीत निश्चित है।

लगभग ढाई घंटे तक मुख्यमंत्री राव के की अध्यक्षता में हुई टीआरएस कार्यकारिणी की बैठक में मंत्रिमंडल के सभी सदस्य, सांसद, विधायक और नगरपालिका के अध्यक्ष और वरिष्ठ नेता उपस्थित थे।

admin