निकाय चुनावः पंजाब में भाजपा को मिली करारी हाल, कांग्रेस बड़ी पार्टी बनकर उभरी

चंडीगढ़। पंजाब में 100 से अधिक नगर निकाय सीट पर मतगणना जारी है। सत्तारूढ़ कांग्रेस ने आठ नगर निगम में से 5 पर जीत दर्ज की है। कांग्रेस ने अबोहर, बठिंडा, कपूरथला, होशियारपुर और पठानकोट निगम पर कब्जा कर लिया है। मोगा, बटाला और मोहाली के चुनावों के नतीजों का इंतजार है। भाजपा, अकाली दल और आप का बुरा हाल है।

प्रदेश निर्वाचन आयोग ने मंगलवार को मोहाली नगर निगम के दो मतदान केंद्रों पर पुनर्मतदान के निर्देश दिये थे। इसलिये इस पूरे नगर निगम में मतों की गिनती का काम बृहस्पतिवार को किया जायेगा। उन्होंने आगे कहा कि मतगणना केंद्रों पर सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गयी है। भारतीय जनता पार्टी एवं शिरोमणि अकाली दल अलग अलग चुनाव लड़ रहे हैं। पिछले साल कृषि कानून के मुद्दे पर शिअद राजग गठबंधन से बाहर हो गया था ।

राज्य के 117 से अधिक सीट निकाय चुनाव हुए थे, जिनमें आठ नगर निगम और 109 नगर परिषद शामिल हैं। किसानों के विरोध प्रदर्शन के बीच चुनाव हुआ था। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के लिए यह चुनाव महत्वपूर्ण है। क्योंकि 2022 में यहां विधानसभा चुनाव है। अबोहर, बठिंडा, बटाला, कपूरथला, मोहाली, होशियारपुर, पठानकोट और मोगा के आठ नगर निगमों के 2302 वार्ड और 109 नगर परिषदों के लिए कुल 9222 उम्मीदवार मैदान में हैं।

राज्य निर्वाचन आयोग ने मंगलवार को मतदान के दौरान अनियमितताओं की रिपोर्ट के बाद एसएएस नगर नगर निगम के दो बूथों में फिर से मतदान का आदेश दिया था। बदमाशों द्वारा इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को क्षतिग्रस्त करने के बाद पटियाला के तीन बूथों और पटियाला में समाना नगर परिषदों के मतदान के एक दिन बाद यह आदेश आया था।

विपक्षी दलों ने सत्तारूढ़ कांग्रेस पर रविवार को मतदान केंद्रों पर ‘‘कब्जा’’ करने और ‘‘हिंसा में संलिप्त रहने’’ के आरोप लगाए थे वहीं मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को कहा था कि चुनाव में आसन्न हार देखकर विपक्ष आधारहीन आरोप लगा रहा है।

admin