भारतवंशी भव्या लाल बनीं NASA की कार्यकारी चीफ

वॉशिंगटन। अमेरिका के नेशनल एरोनॉटिक्स और स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) ने भारतवंशी अमेरिकी नागरिक भव्या लाल को संस्था का एक्टिंग चीफ ऑफ स्टाफ बनाया गया है. इससे पहले भव्या लाल राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) के प्रेसीडेंशियल ट्रांजिशन एजेंसी रिव्यू टीम का हिस्सा भी रही हैं. भव्या 2005 से 2020 तक इंस्टीट्यूट फॉर डिफेंस एनालिसिस साइंस एंड टेक्नोलॉजी पॉलिसी इंस्टीट्यूट में रिसर्च स्टाफ भी रह चुकी हैं.

पहले भी निभाई है महत्वपूर्ण जिम्मेदारी
नासा ने अपने बयान में कहा है कि भव्या लाल के पास अपार अनुभव है. उन्हें इंजीनियरिंग और स्पेस टेक्नोलॉजी में महारत हासिल है. इससे नासा को काफी लाभ मिलेगा. भव्या लाल व्हाइट हाउस ऑफिस ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी पॉलिसी और नेशनल स्पेस काउंसिल की विश्लेषण टीम की प्रमुख भी रही हैं. इसके अलावा उन्होंने फेडरल स्पेस ओरिएंटेड ऑर्गेनाइजेशन जैसे नासा, डिपार्टमेंट ऑफ डिफेंस और इंटेलिजेंस कम्यूनिटी के लिए भी काम किया है.

शिक्षा एवं उपलब्धियां
भव्या लाल ने परमाणु विज्ञान में बैचलर ऑफ साइंस और मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री प्राप्त की है साथ ही मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से टेक्नोलॉजी एंड पॉलिसी में मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री ली है. वहीं जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी से सार्वजनिक नीति और सार्वजनिक प्रशासन में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की है.एसटीपीआई में शामिल होने से पहले, लाल ने सी-एसटीपीएस एलएलसी के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया, जो कि वाल्थम, मैसाचुसेट्स में एक विज्ञान और प्रौद्योगिकी नीति अनुसंधान और परामर्श फर्म है. इससे पहले, वह कैम्ब्रिज, मैसाचुसेट्स में एबट एसोसिएट्स इंक में सेंटर फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी पॉलिसी स्टडीज के निदेशक के रूप में कार्यरत थीं.

कई बड़े पदों पर काम कर चुकी हैं भव्या
भव्या स्पेस तकनीक और पॉलिसी कम्युनिटी की एक्टिव सदस्य हैं. उन्होंने नेशनल एकेडमी ऑफ साइंस के पैनलों की अध्यक्ष या सह अध्यक्ष रही हैं. भव्या इससे पहले विज्ञान और तकनीकी रिसर्च और कंसल्टेंसी फर्म की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं. भव्या ने स्पेस सेक्टर में काफी योगदान दिया है. वह इंटरनेशनल एकेडमी ऑफ एस्ट्रोनॉट की सदस्य रह चुकी हैं. उन्होंने पब्लिक पॉलिसी में वाशिंगटन विश्वविद्यालय से पीएचडी की डिग्री प्राप्त की है.

admin