मात्र दस देशों में हुआ 75 प्रतिशत वैक्‍सीनेशन, 130 देशों को नहीं मिला एक भी वैक्सीन

न्यूयॉर्क। कोरोना महामारी के बीच दुनियाभर में चल रहे टीकाकरण अभियान के बीच संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतेरस ने वैक्सीन के असमान वितरण की आलोचना की है। यूएन सिक्योरिटी काउंसिल की एक ऑनलाइन मीटिंग में बुधवार को गुटेरेस ने ये टिप्पणी की। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कहा कि सिर्फ 10 देशों में ही 75 फीसद टीकाकरण हुआ है, जबकि 130 से अधिक देशों को वैक्सीन की एक भी खुराक नहीं मिली है।

उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों से कोवैक्स सुविधा में सहयोग करने को कहा है। ताकि दुनिया भर में कोरोना वैक्सीन के समान वितरण को सुनिश्चित किया जा सके। कोवैक्स सुविधा वैक्सीन की दौड़ में पीछे छूटने वाले निम्न-आय वाले देशों की स्थिति को ध्यान में रखते हुए वितरण सुनिश्चित करने का काम करती है।

उधर, एंतोनियो गुतेरस ने संयुक्त राष्ट्र के शांति सैनिकों के लिए मुफ्त कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए ने भारत का आभार जताया है। संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में संबोधित करते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बुधवार को घोषणा की कि भारत शांति सैनिकों के लिए दो लाख वैक्सीन के डोज संयुक्त राष्ट्र को मुफ्त उपलब्ध कराएगा।

उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि संयुक्त राष्ट्र के शांति सैनिक बहुत ही कठिन परिस्थितियों में दुनियाभर में शांति के लिए काम करते हैं। ऐसी स्थिति में हमारा भी दायित्व बनता है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि मुफ्त में वैक्सीन देने की घोषणा के लिए हम भारतीय दल के Oदय से आभारी हैं। शांति सैनिकों के लिए यह मदद मायने रखती है। ज्ञात हो कि संयुक्त राष्ट्र के नेतृत्व में 94 हजार 484 शांति सैनिक दुनियाभर के 12 स्थानों पर आपरेशन को अंजाम दे रहे हैं। शांति मिशन में 121 देश का योगदान रहता है।

admin