राफेल आने से चीनी कैंपों की चिंता बढ़ी: वायुसेना प्रमुख

नई दिल्लीबेंगलुरु। एक तरफ बेंगलुरु में एयरो इंडिया शो 2021 चल रहा है तो दूसरी तरफ सीमा पर चीन के साथ तनाव अभी भी बरकरार है। इस बीच एयरफोर्स चीफ आरकेएस भदौरिया ने कहा है कि राफेल की तैनाती के बाद से चीनी कैंप में खलबली है। वायुसेना चीफ ने कहा कि चीन ने पूर्वी लद्दाख के करीबी क्षेत्रों में अपना जे-20 लड़ाकू विमान तैनात किया था, लेकिन जब हम इस क्षेत्र में राफेल लेकर आए तो वह पीछे चले गए।
वायुसेना चीफ आरकेएस भदौरिया ने कहा कि मौजूदा दौर में भारत और चीन के बीच बातचीत चल रही है। सब इस बात पर निर्भर करता है कि बातचीत कैसी चलती है। जितनी फोर्स की जरूरत है हमने तैनाती की है। हमारी तरफ से बातचीत पर बहुत ध्यान दिया जा रहा है। अगर पीछे हटने की प्रक्रिया शुरू होती है तो यह अच्छा होगा, लेकिन अगर कोई नई स्थिति पैदा होती है तो हम उसके लिए पूरी तरह तैयार हैं।
चीन के साथ पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चल रहे तनाव के बीच भारत ने सीमा पर सेना की पर्याप्त तैनाती की है। एयरफोर्स चीफ आरकेएस भदौरिया ने गुरुवार को कहा कि राफेल विमानों के आने से चीनी कैंपों की चिंता निश्चित तौर पर बढ़ गई है। चीन ने जैसे ही भारतीय क्षेत्र के करीब J-20 फाइटर जेट्स को तैनात किया था, वैसे ही भारत ने भी फ्रांस से आए राफेल जेट विमानों की तैनाती कर दी थी।

admin