पलायन कर रहे मजदूरों के लिए इंदौर से 100 बसें

नगर संवाददाता | इंदौर

प्रदेश सरकार ने शुरू की नि:शुल्क व्यवस्था

लॉक डाउन के दौरान लाखों मजदूर पलायन कर रहे हैं। महाराष्ट्र और गुजरात के मजदूर मध्यप्रदेश से होते हुए यूपी-बिहार जा रहे हैं। ऐसे मजदूरों की सुध लेते हुए प्रदेश सरकार ने उन्हें प्रदेश में बसों की मुफ्त सेवा शुरू की है। इसके तहत इंदौर से भी 100 बसें ली गई हैं, जिन्हें देवास भेजा गया है। ये बसें देवास से सागर और आसपास के हिस्सों तक जाएंगी।

आरटीओ जितेंद्र रघुवंशी ने बताया कि प्रदेश में लगभग तीन स्टेज में यात्रियों को छोड़ने की व्यवस्था की गई है। इसके तहत महाराष्ट्र की ओर से आ रहे पैदल यात्रियों को सेंधवा बार्डर से बसों में बैठाकर देवास तक लाया जा रहा है। वहीं देवास से इन यात्रियों को इंदौर और देवास द्वारा चलाई जाने वाली बसों से सागर और आसपास के क्षेत्रों तक ले जाया जा रहा है और वहां से अन्य बसों से प्रदेश की सीमाओं तक छोड़ा जा राह है

महाराष्ट्र-गुजरात से आ रहे मजदूर इन बसों में सेंधवा से देवास, वहां से सागर तक पहुंचेंगेे

अन्य राज्यों से पलायन कर इंदौर आने वाले मजदूरों के लिए प्रशासन द्वारा 100 बसों को अधिगृहित कर देवास भेजा गया है। बस संचालकों को इसके लिए शासकीय दरों से भाड़े का भुगतान भी किया जाएगा। इसके साथ ही कई निजी स्कूलों और बस संचालकों को इंदौर में राऊ से बायपास के दूसरे छोर, देवास बायपास तक छोड़ने के लिए भी बसों का संचालन किया जा रहा है। इन सभी बसों में यात्रियों को नि:शुल्क यात्रा दी जा रही है।

admin