इस राज्य में चीनी-चावल के साथ 1000 रूपए मुफ़्त

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। 

कोरोना के कारण देशभर में लॉकडाउन की स्थिति है। कहीं स्थिति ज्यादा गंभीर है तो वहां पूरी तरह से लॉकडाउन है अब ऐसी स्थिति में सबसे बड़ी समस्या राशन की होती है। लेकिन इस समस्या से उबरने के लिए सरकार जरुरी कदम उठा रही है। वहीं तमिलनाडु गवर्मेंट इसको लेकर सजग है।

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई. पलानीस्वामी ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए राहत का बड़ा ऐलान किया है। पलानस्वामी ने मंगलवार को राज्य में सभी राशन कार्डधारकों को 1 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है। इसके साथ उनको मुफ्त चावल, चीनी और अन्य जरूरी सामान दिए जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा है, “लोग राशन की दुकानों पर लंबी कतारें ना लगाएं, इसके लिए हर किसी को टोकन दिया जाएगा, जिसके आधार पर ये मदद ले सकते हैं।”

वहीं जिन लोगों ने मार्च का राशन नहीं लिया, वो अप्रैल में कार्ड से राशन ले सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बुजुर्गों को आंगनवाड़ी में फ्री खाना मिलेगा। रिक्शा चालकों और ऑटो रिक्शावालों को 1000 रुपये और दिए जाएंगे। अम्मा कैंटीन भी जारी रहेगी, जिससे गरीब लोगों को खाना खिलाया जा सके।

कोरोना वायरस के अबतक तमिलनाडु में 12 केस सामने आए हैं। इसी को देखते हुए राज्य सरकार ने पूरे राज्य में धारा 144 लगाई है और लॉकडाउन का ऐलान किया गया है। देश भर में कोरोना वायरस का असर लगातार बढ़ता जा रहा है। अबतक 500 से अधिक पॉजिटिव केस देशभर में सामने आ चुके हैं।

इससे पहले, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के मजदूरों को भत्ते के रूप में एक हजार रुपये मासिक देने का ऐलान किया था। उन्होंने कहा, 15 लाख दिहाड़ी मजदूरों और 20.37 लाख निर्माण श्रमिकों को उनकी दैनिक जरूरतों को पूरा करने में मदद करने के लिए मासिक 1000 रुपये की राशि दी जाएगी।

admin