ट्रंप पर सीनेट में चलेगा महाभियोग 228 सांसदों ने वोट से दी मंजूरी

वॉशिंगटन

21 जनवरी से कार्यवाही शुरू होने की संभावना, 193 सांसदों ने विपक्ष में की वोटिंग, 438 सदस्यीय निचले सदन में डेमोक्रेट्स का है दबदबा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ अब संसद के ऊपरी सदन सीनेट में महाभियोग की कार्यवाही चलाई जाएगी। बुधवार को संसद के निचले सदन में चल रही महाभियोग की इस कार्यवाही को ऊपरी सदन सीनेट में भेजने के पक्ष में सांसदों ने वोट कर अपनी मंजूरी दे दी। बता दें कि सत्ता के दुरुपयोग और संसद के काम में अवरोध पैदा करने के आरोप में ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही अमल में लाई जा रही है। यह कार्यवाही अब सीनेट में चलेगी। ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही सीनेट में चलाए जाने के पक्ष में 228 सांसदों ने जबकि विपक्ष में 193 सांसदों ने वोट दिया।

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने बुधवार को सीनेट में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग कार्यवाही आगे बढ़ाते हुए इसे उच्च सदन में भेजने के लिए मतदान किया, ताकि उन्हें सत्ता के दुरुपयोग और कांग्रेस के लिए बाधा पैदा करने को लेकर पद से हटाया जा सके। सदन ने महाभियोग चलाने के लिए अभियोजन पक्ष की ओर से सात सांसदों को भी नियुक्त किया है, जो डेमोक्रेट सदस्यों के साथ महाभियोग की कार्यवाही पर बहस करेंगे। इन्हें स्पीकर नैंसी पेलोसी ने नामित किया है। बता दें कि 435 सदस्यों वाले निचले सदन में बीते साल 18 दिसंबर को राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ पद के दुरुपयोग के आरोप लगाते हुए महाभियोग चलाए जाने की संस्तुति की गई थी।

कांग्रेसी और इंटेलिजेंस पर स्थायी चयन समिति के अध्यक्ष एडम शिफ नामित किए गए सदस्यों की समिति के प्रमुख होंगे। उनके साथ कांग्रेसी और सदन की न्यायिक समिति के प्रमुख जेरी नैडलर, जोए लोफग्रेन, हकीम जेफरीज, वैल डेनिंग डेमिंग्स व दो अन्य सदस्य इस समिति में शामिल रहेंगे। महाभियोग की कार्यवाही अब उच्च सदन सीनेट में चलेगी, जहां ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी के पास 100 सदस्यों के साथ बहुमत है। ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही के 21 जनवरी से शुरू होने की संभावना है, जिसकी अध्यक्षता सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश करेंगे।

प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष ने बताया दु:खद दिन

महाभियोग को रिपब्लिकन-नियंत्रित सीनेट भेजे जाने से पहले अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैन्सी पैलोसी ने इसके तहत लगाए गए आरोपों पर हस्ताक्षर किए थे। इन आरोपों पर हस्ताक्षर करने से पहले पैलोसी ने कहा, ‘हमारे देश के लिए यह बेहद दुखद, बेहद त्रासदीपूर्ण है कि राष्ट्रपति ने हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा को कमजोर करने, अपने पद की शपथ का उल्लंघन करने और हमारे चुनाव की सुरक्षा को खतरे में डालने के लिए कदम उठाए गए।’ ट्रंप के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए चुने गए प्रतिनिधि सभा के प्रबंधकों सहित अधिकारियों ने सीनेट के एक कर्मी को नीले रंगे के फोल्डर में यह प्रस्ताव सौंपा। इसके बाद सीनेट में बहुमत दल के नेता मिच मैक्कॉनेल ने प्रतिनिधि सभा के प्रबंधकों को सीनेट आमंत्रित किया।

अमेरिकी इतिहास में तीसरी बार ऐसा

सीनेट में बहुमत दल के नेता मिच मैक्कॉनेल ने कहा, ‘चीफ जस्टिस हम सभी सीनेटरों को शपथ दिलाएंगे।’ अमेरिकी इतिहास में तीसरी बार सीनेट महाभियोग अदालत का रूप लेगी। मैककॉनेल ने कहा, ‘सुनवाई मंगलवार को शुरू की जाएगी। हम गुटबाजी से उठकर अपनी संस्थाओं के लिए और राष्ट्र के लिए न्याय करेंगे।’

admin