5000 लोगों ने पी लिया मेथेनॉल, 728 की मौत

तेहरान

कोरोना में अफवाह… ईरान के मौतों का हिसाब रखने वाले ऑफिस ने बताया कि मेथेनॉल पीने की घटना में मौत के साथ सैकड़ों लोगों की आंखों की रोशनी भी चली गई है जिसमें कई बच्चे भी शामिल

ईरान की सरकार ने अब जाकर कबूल किया है कि एक अफवाह के चलते हज़ारों लोगों ने मेथेनॉल पी लिया और उनकी मौत हो गई। सोशल मीडिया के जरिए बीते दिनों ईरान में अफवाह फैल गई थी कि अल्कोहल पीने से कोरोना संक्रमण का इलाज होता है जिसके बाद सैकड़ों बच्चों समेत हजारों लोगों ने मेथेनॉल पी लिया था। ईरान की सरकार ने सोमवार को बताया कि इस घटना में 728 लोगों की मौत हो गई है। ईरान के मौतों का हिसाब रखने वाले ऑफिस ने सोमवार को बताया कि मेथेनॉल पीने की घटना में न सिर्फ 728 लोगों की मौत हुई है बल्कि सैकड़ों लोगों की आंखों की रोशनी भी चली गई है जिसमें कई बच्चे भी शामिल हैं।

खबर के मुताबिक ईरान सरकार ने जानकारी दी है कि जहर पीने से मरने वाली मौतों में ही इन मौतों को शामिल किया गया है। ये सभी लोग कोरोना संक्रमण के इलाज का दावा करने वाली अफवाह के शिकार हो गए हैं। ईरान स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता कियानौश जहांपोर ने बताया कि करीब 5011 लोगों ने इस अफवाह के चलते मेथेनॉल पी लिया था। यहां तक कि कई माता-पिता ने अपने बच्चों को भी पिला दिया था। इनमें से 90 लोगों की आंखों की रोशनी भी चली गई है। इन सभी लोगों ने अफवाह के बाद अल्कोहल ढूंढना शुरू किया और नहीं मिलने पर मेथेनॉल ही पी लिया।

प्रवक्ता के मुताबिक डर की वजह से हो सकता है कई लोग सामने नहीं आए हों और इसे पीकर अंधे होने वाले लोगों की संख्या ज्यादा हो सकती है। बता दें कि मेथेनॉल की गंध और स्वाद शराब जैसा ही होता है। हालांकि ये सीधे इन्सान के दिमाग को नुकसान पहुंचाता है। ईरान में भी कोरोना संक्रमण ने काफी कहर बरपाया था हालांकि अब यहां काफी हद तक कंट्रोल पा लिया गया है। ईरान में संक्रमण के 91,000 से ज्यादा मामले सामने आए हैं जबकि 5,806 लोगों की इससे मौत हो गई है।

रूसी सेना में कोरोना वायरस के करीब 900 मामले

रूस की सेना में गत मार्च के बाद से कुल 874 सैनिक कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गए हैं। उनमें से लगभग आधे यानी 379 घर पर पृथक हैं जबकि अन्य का इलाज विभिन्न चिकित्सा इकाइयों में किया जा रहा है। रूस में अभी तक कोरोना वायरस संक्रमण के 87,147 मामले सामने आये हैं जबकि 794 मौतें हुई हैं। सिर्फ सोमवार को यहां 6,198 नए मामले सामने आए जबकि 47 लोगों की इस संक्रमण से मौत हो गई। देश के अधिकांश क्षेत्रों में मार्च के अंत से लॉकडाउन है। केवल आवश्यक व्यवसायों जैसे किराने की दुकानें, फार्मेसी, बैंकों का संचालन हो रहा है। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बढ़ते प्रकोप के कारण द्वितीय विश्वयुद्ध में नाजी जर्मनी की 1945 की हार की याद में देश में नौ मई को होने वाली सैन्य परेड भी स्थगित कर दी थी।

अमेरिका… 57 हजार तक मौत, 10 लाख से ज्यादा संक्रमित

अमेरिका में कोरोना वायरस की वजह से मरने वालों का आंकड़ा 57 हजार के करीब पहुंच चुका है। अमेरिकी प्रशासन ने लोगों के टेस्ट करने की संख्या में इजाफा किया है। इस बीच कुछ राज्य अर्थव्यवस्था को खोलने के लिए कुछ प्रतिबंधों में छूट देने जा रहे हैं। ताजा आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका में कोरोना के संक्रमित मरीजों की संख्या 10 लाख के पार चली गई है। पूरी दुनिया में संक्रमण के 30 लाख से ज्यादा मामले है।

लंदन… कोरोना हुआ तो भारतीय उबर ड्राइवर को घर से निकाला

पिछले 22 वर्षों से लंदन में टैक्सी चला रहा था। पिछले दिनों उसे कोरोना वायरस का संक्रमण हुआ तो मकान मालिक ने उसे घर से निकाल दिया। हफ्तों तक वो अपनी टैक्सी में सोया। आखिर में बिना परिवार से मिले हॉस्पिटल में उसकी मौत हो गई। उबर ड्राइवर की पत्नी ने अपने पति की दर्दनाक मौत की कहानी बयां की है। एक रिपोर्ट के मुताबिक 44 साल का राजेश जयासीलन पिछले 22 वर्षों में लंदन में रहकर टैक्सी चला रहा था।

चीन… स्रोत की अंतरराष्ट्रीय जांच का कोई कानूनी आधार नहीं

कोरोना वायरस के स्रोत के बारे में अंतरराष्ट्रीय जांच के बढ़ते दबाव का सामना कर रहे चीन ने सोमवार को कहा कि इस तरह की जांच का कोई कानूनी आधार नहीं है और अतीत में ऐसी महामारियों की जांच के कोई ठोस नतीजे नहीं आए हैं। चीन ने दुनिया भर में कहर बरपाने वाले कोरोना वायरस के स्रोत के बारे में एक तटस्थ अंतरराष्ट्रीय जांच के आह्वान पर बेहद बारीक प्रतिक्रिया दी है।

admin