कमलनाथ-दिग्विजय की प्रॉपट जितना तो सिंधिया का महल है

नगर संवाददाता | इंदौर

सिंधिया पर रुपए लेकर भाजपा में आने का आरोप लगाने वालों को विजयवर्गीय ने दिया जवाब

मप्र में उपचुनाव को लेकर दोनों की पार्टियों ने मैदान संभाल लिया है। सांवेर विधानसभा में चुनावी बिगुल फूंकते हुए भाजपा ने चुनाव कार्यालय का उद्घाटन किया। इस दौरान भाजपा महासचिव कांग्रेस सरकार और कांग्रेसियों पर जमकर बरसे। विजयवर्गीय ने कहा कि जीतू पटवारी और कांग्रेसी लगातार आरोप लगा रहे हैं कि सिंधिया और सिलावट 50 करोड़ रुपए लेकर भाजपा में शामिल हुए हैं।

मैं जीतू, कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को कहना चाहता हूं कि आप सब अपनी प्राॅपर्टी जोड़कर कीमत आंक लो। जितनी तुम सबकी की प्रॉपर्टी होगी, उतनी तो सिंधिया जी का एक महल है। आरोप लगाने के पहले एक बार सामने वाले की हैसियत देखकर तो बात किया करो। विजयवर्गीय ने कहा कि कांग्रेस ने राम मंदिर का समर्थन नहीं किया। कमलनाथ को झांझ मजीरा बजाना है तो बजाएं। यदि सदबुद्धि आ जाए तो ये बहुत अच्छी बात है। दिग्विजय सिंह ने नर्मदा परिक्रमा की। फल मिला है ना, 12 महीने तक खूब ट्रांसफर करवाए। नर्मदा की छह महीने परिक्रमा की, 12 महीने की सरकार में खूब रुपए कमाए। उन्होंने उस समय फावड़े से रुपए खींचे। विजयवर्गीय ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने कन्यादान योजना के रुपए खा लिए। तुम्हें सेवा भावना क्या मालूम है, कांग्रेस के लोग जो मां-बाप की सेवा नहीं कर सके तो वे जनता की सेवा क्या करेंगे।

आरोप लगाने के पहले हैसियत देखनी चाहिए


जीतू पटवारी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि पटवारी कह रहे थे कि सिंधिया जी ने तुलसी सिलावट ने 50 करोड़ रुपए लिए। वे बोले- कमलनाथ हों या फिर दिग्विजय सिंह… जितनी इनकी प्रॉपट है, उसे जोड़ लो, उतने का तो सिंधिया जी का एक महल है। सिंधिया भाजपा में आने के लिए रुपए लेंगे। किसी पर आरोप लगाने के पहले अपनी हैसियत तो देखो यार…। मप्र की जनता से चुनाव में क्या-क्या वादे किए थे, कौन सा वादा निभाया।

हम पर आरोप न लगाएं

देशभर में कांग्रेस की हालत खराब है, उनके नेताओं को उनके नेतृत्व में पर यकीन नहीं है। पहले कर्नाटक में विधायक छोड़कर गए तो उन्होंने भाजपा पर आरोप लगा दिया। राजस्थान के विधायक तो वापस चले गए, इस पर संदीप पात्रा ने डीबेट में कहा कि आप तो आरोप लगा रहे थे। इसलिए हम पर आरोप न लगाएं।

अब करोड़ों के मालिक हो गए

जीतू पटवारी पार्षद का चुनाव हार गए थे। आज करोड़पति हैं और आरोप लगाते हो, इसने 20 करोड़ लिए 25 करोड़ लिए। मोदी जी ने कहा धारा 370 हटाएंगे, हटा दी। यही कांग्रेस विरोध कर रही थी। इसी कांग्रेस में रहते हुए सिंधिया ने धारा 370 हटाने का समर्थन किया था। कांग्रेस अपने गिरेबां में झांक कर देखें।

admin