मुंबई के ‘टाटा मैराथन’ में 7 लोगों को पड़ा दिल का दौरा, 64 वर्षीय बुजुर्ग की मौत

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। मुंबई में रविवार की सुबह आयोजित ‘टाटा मुंबई मैराथन 2020’ के दौरान दिल का दौरा पड़ने से एक 64 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। मृतक व्यक्ति का नाम गजानन मलजालकर है, जो वरिष्ठ नागरिक की श्रेणी में दौड़ रहे थे। मलजालकर चार किलोमीटर दौड़ने के बाद अचानक गिर पड़े, जिसके बाद उन्हें बॉम्बे अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

मैराथन में शामिल होने वाले अन्य दो लोगों को भी दिल का दौरा पड़ा, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। उनमें से एक 40 वर्षीय हिमांशु ठक्कर का इलाज चल रहा है, वहीं दूसरे शख्स को डिस्चार्ज कर दिया गया है।

डॉक्टर के मुताबिक अस्पताल पहुंचे अधिकतर लोग डायबिटीज़ और मोटापे से की समस्या से जूझ रहे थे। उन्हें मैराथन में शामिल होने के लिए अतिरिक्त देखभाल की ज़रूरत थी।

टाटा मुंबई मैराथन के 17वें संस्करण में 55,000 से अधिक लोगों के हिस्सा लिया जो एक रिकॉर्ड है। इनमें महाराष्ट्र के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे भी थे, जो हाफ मैराथन को हरी झंडी दिखाने के लिए वहां पहुंचे थे। हाफ मैराथन सुबह पांच बजकर 15 मिनट पर हुआ, और 10 किलोमीटर का मैराथन सुबह साढे छह बजे शुरू हुआ।

फ़ोटो क्रेडिट- सोशल मीडिया

10 किलोमीटर मैराथन की शुरुआत मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (सीएसटी) स्टेशन से हुई, और हजारों लोगों ने शहर से होते हुए बांद्रा-वर्ली सीलिंक, मरीन ड्राइव, महालक्ष्मी रेसकोर्स, हाजी अली और पेडार रोड पर दौड़ लगाई। पुरुष वर्ग में तीनों विजेता इथियोपिया से रहे। पहले नंबर पर डेरारा हुरिसा, दूसरे स्थान पर ऐले अबशेरो और तीसरे स्थान पर बिरहानू ताशोम रहे।

पिछले साल भी 26/11 हमले के दौरान एंटी टेरर ऑपरेशन में शामिल रहे गैलेंट्री अवॉर्ड से सम्मानित पुलिस इंस्पेक्टर नितिन कागड़े की भी इस साल मैराथन के लिए तैयारी के दौरान पिछले साल नवम्बर में मौत हो गयी थी।

कागड़े उस समय ज़ोन-2 में डिप्टी कमिश्नर के रूप में पदस्थ थे और मरीन ड्राइव पर जॉगिंग कर रहे थे। उन्हें जीटी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्हें कार्डियक अटैक के चलते मृत घोषित कर दिया गया।

admin