थाली, शंख और घंटियाँ सुन कर मोदी जी ने कहा ‘धन्यवाद’

विभव देव शुक्ला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार के दिन देश के लोगों को कोरोना वायरस के लिए संबोधित किया था। जिसमें मोदी जी ने कई अहम बातें कही थीं, सबसे अहम था 22 मार्च का ‘जनता कर्फ़्यू’। लेकिन मोदी जी ने इसके अलावा भी कुछ ऐसी बातें कही थीं जो अहम थीं।
ऐसी ही एक बात थी 22 मार्च को अपने घर की खिड़की, दरवाजों और छतों पर आकर थाली या ताली बजाना। देश की एक बड़ी आबादी ने मोदी जी की इस बात को पूरी गंभीरता से लिया। बहुत से लोग अपने घरों से बाहर निकले और उन्होंने यह किया।

धन्यवाद का नाद
इसके तमाम वीडियो भी सोशल मीडिया पर आए जिसमें बहुत से लोग थाली बजाते हुए नज़र आ रहे हैं। मोदी जी ने अपने आधिकारिक ट्विटर एकाउंट से ट्वीट करके ऐसा करने को धन्यवाद कहा है। मोदी जी ने ट्वीट में लिखा है
ये धन्यवाद का नाद है, लेकिन साथ ही एक लंबी लड़ाई में विजय की शुरुआत का भी नाद है। आइए, इसी संकल्प के साथ, इसी संयम के साथ एक लंबी लड़ाई के लिए अपने आप को बंधनों (Social Distancing) में बांध लें। कोरोना वायरस की लड़ाई का नेतृत्व करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को देश ने एक मन होकर धन्यवाद अर्पित किया। देशवासियों का बहुत-बहुत आभार… #JantaCurfew

ऐसे कहें ‘धन्यवाद’
दरअसल गुरुवार 19 मार्च को प्रधानमंत्री ने कहा था, ‘मैं चाहता हूं कि 22 मार्च को हम ऐसे सभी लोगों को धन्यवाद अर्पित करें। जो जोखिम उठाकर आवश्यक कामों में लगे हैं, इस महामारी से लड़ने में मदद कर रहे हैं। रविवार को ठीक 5 बजे हम अपने घर के दरवाजे पर खड़े होकर, बालकनी-खिड़कियों के सामने खड़े होकर पांच मिनट तक ताली-थाली बजा कर उन लोगों के प्रति कृतज्ञता जताएं।

बुजुर्ग रखें ध्यान
जो कोरोना से बचाने में हमें लगे हैं। 22 मार्च को हमारा यह प्रयास, हमारा आत्म संयम, देश हित में कर्तव्य पालन के संकल्प का एक मजबूत प्रतीक होगा।’ प्रधानमंत्री ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में कहा कि मेरा एक और आग्रह है कि हमारे परिवार में जो भी बुजुर्ग हों, 65 वर्ष की आयु के ऊपर के व्यक्ति हों, वे आने वाले कुछ सप्ताह तक घर से बाहर न निकलें, बहुत जरूरी होने पर ही घरों से निकलें।

जनता कर्फ़्यू की अपील
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज कोरोना वायरस को लेकर राष्ट्र को संबोधित किए। इस दौरान उन्होंने देशवासियों से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाने का आह्वान किया है। पीएम ने यह भी कहा है कि यह वैश्विक महामारी हो चुकी है। इससे पूरा विश्व परेशान है। उन्होंने देशविसयों से वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए साथ आने की अपील की है। साथ ही उन्होंने बुजुर्ग लोगों से घर से बाहर नहीं निकले की अपील की है।

admin