बाबरी का मुकदमा 31 अगस्त तक हो पूरा : कोर्ट

नई दिल्ली।

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को बाबरी मस्जिद विध्वंस केस का मुकदमा 31 अगस्त तक पूरा करने का आदेश दिया। अप्रैल में लखनऊ की निचली अदालत को फैसला दे देना था। लेकिन अभी भी सभी गवाहों के बयान दर्ज नहीं हुए। सुप्रीम कोर्ट ने समय सीमा बढ़ाते हुए कहा कि बयान वीडियो कांफ्रेंसिंग से भी दर्ज किए जाएं। साल 1992 में छह दिसंबर को कार सेवकों ने बाबरी मस्जिद के ढांचे को गिरा दिया था। उस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कल्याण सिंह थे। जानकारी के अनुसार, बाबरी मस्जिद गिराए जाने से पहले उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में हलफ़नामा दिया था कि बाबरी मस्जिद को नुक़सान नहीं पहुंचने दिया जाएगा, लेकिन वो इसे निभा नहीं पाए थे। मस्जिद गिराने के आरोप में 13 नेताओं के खिलाफ पूरक चार्जशीट दाखिल की गई थी।

admin