अमित शाह ने कहा, बोड़ो समझौते के साथ ही पूर्वोत्तर में अब उग्रवाद की समाप्ति आरंभ

कोकराझार (असम) । दो दिवसीय असम एवं मेघालय के दौरे के दूसरे दिन रविवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कोकराझार जिले के ग्रीन फील्ड में बोड़ोलैंड टेरिटोरियल रिजन (बीटीआर) समझौते के प्रथम स्थापना दिवस के मौके पर आयोजित रैली को संबोधित किया। शाह ने कहा, “बोड़ोलैंड टेरिटोरियल रिजन (बीटीआर) समझौते को एक साल पहले हुआ था, इसके साथ ही पूर्वोत्तर में उग्रवाद के अंत की शुरुआत हो गयी।”

गृहमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने भी उग्रवादियों के साथ कई समझौते किए, लेकिन किसी का भी पालन नहीं किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा ने बोड़ो समझौते को पूरा करने के लिए प्रतिबद्धता दिखायी है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के शासनकाल के दौरान सभी समुदायों के राजनीतिक, सांस्कृतिक और भाषा के अधिकारों को सुरक्षित करते हुए एक सुरक्षित असम बनाया है।

केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केवल भाजपा ही असम को भ्रष्टाचार मुक्त, आतंकवाद-मुक्त और प्रदूषण मुक्त बना सकती है। बोड़ो क्षेत्र में सड़क नेटवर्क बनाने के लिए 500 करोड़ रुपये मंजूर किए जाने की घोषणा पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि यह कदम इस क्षेत्र को विकास की राह पर ले जाएगा।

इस मौके पर मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, राज्य सरकार के वित्त, स्वास्थ्य, शिक्षा आदि मामलों के मंत्री डॉ. हिमंत विश्वशर्मा, यूपीपीएल के अध्यक्ष एवं बीटीसी के सीईएम प्रमोद बोड़ो, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रंजीत कुमार दास, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं असम के प्रभारी बैजयंत जय पांडा, सांसद नव शरणिया, सांसद पल्लव लोचन दास, पूर्व सांसद विश्वजीत दैमारी, यूपीपीएल के संस्थापक अध्यक्ष उर्खाउ गौरा ब्रम्ह, जिष्णु बरुवा, भास्कर ज्योति महंत, विधायक अशोक सिंघल, विधायक दीपेन बोरो समेत अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

admin