गांधी परिवार और कांग्रेस के खिलाफ़ केंद्र सरकार की बड़ी कार्रवाई, राजीव गांधी फाउंडेशन की होगी जांच

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

राजीव गांधी फाउंडेशन में फंडिंग को लेकर लगातार उठ रहे सवालों के बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बड़ा फैसला किया है। गृह मंत्रालय की ओर से एक कमेटी बनाई गई है, जो कि इन फाउंडेशन की फंडिंग, इनके द्वारा किए गए उल्लंघनों की जांच करेगी।

इस समिति की अगुवाई प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के विशेष निदेशक करेंगे। अंतर-मंत्रालयी टीम की जांच के दायरे में राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट और इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा किया गया कानूनों का उल्लंघन भी होगा।

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के साथ किया था समझौता

दरअसल भाजपा ने राजीव गांधी फाउंडेशन को लेकर कांग्रेस पर सनसनीखेज आरोप लगाये थे। भाजपा ने कहा था कि कांग्रेस पार्टी ने 2008 में चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के साथ एक समझौता किया था, जिसमें राहुल गांधी ने हस्ताक्षर किए और सोनिया गांधी पीछे खड़ी थी।

सोशल मीडिया पर लोग इसे कांग्रेस के खिलाफ केंद्र सरकार की बड़ी कार्रवाई बता रहे हैं। हालांकि, जवाब में कांग्रेस ने इन सभी आरोपों को नकार दिया था और कहा था कि राजीव गांधी फाउंडेशन देश का फाउंडेशन है और इसका काम सेवा के लिए किया जाता है।

चीन ने 1991 में फाउंडेशन को 100 करोड़ रुपए दिए थे

 

इतना ही नहीं नड्डा ने कहा था कि मनमोहन सिंह ने वित्त मंत्री रहते 1991 के बजट में फाउंडेशन को 100 करोड़ रुपए दिए थे। आगे उन्होंने कहा राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन से फंडिंग मिलती थी।

खबरों के अनुसार ट्रस्ट से जुड़ी फंडिंग की जांच तीन अलग-अलग एजेंसियां करेंगी। इनमें सीबीआई की टीम एफसीआरए एक्ट के तहत मामले को जांचेगी, इसके अलावा इडी की टीम पीएमएलए उल्लंघन की और आयकर विभाग टैक्स जुड़े मामले की जांच करेगा।

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने क्या ट्वीट किया

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट कर कहा, “केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राजीव गांधी फाउंडेशन, राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट और इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट की जांच के लिए अंतर मंत्रालयीय समिति का गठन किया है। यह समिति पीएमएलए, आयकर अधिनियम, एफसीआरए आदि के विभिन्न कानूनी प्रावधानों के नियमों के उल्लंघन की जांच करेगी। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के विशेष निदेशक समिति का जिम्मा संभालेंगे।”

राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट का काम

राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट का गठन साल 2002 में हुआ था। इसके उद्देश्यों में देश के वंचित समाज, खासकर ग्रामीण गरीबों के विकास संबंधी जरूरतों की पूर्ति में मदद करना शामिल है।

यह ट्रस्ट इस समय राजीव गांधी महिला विकास परियोजना तथा इंदिरा गांधी आई हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेंटर परियोजनाओं के तहत उत्तर प्रदेश तथा हरियाणा के बेहद पिछड़े इलाकों में काम कर रहा है। यह ट्रस्ट उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में महिला सशक्तीकरण के लिए सक्रिय है।

admin