बीजेपी विधायक ने स्वतंत्रता सेनानी को बताया पकिस्तान का एजेंट

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। स्वतंत्रता सेनानी एच एस दोरेस्वामी पर भाजपा विधायक बी पी यतनाल की अभद्र टिप्पणी के बाद कर्नाटक विधानसभा के बजट सत्र के दौरान सोमवार को भारी हंगामे के साथ सत्ताधारी दल और विपक्ष के बीच आरोपों-प्रत्यारोपों का दौर चल पड़ा है। अभी कर्नाटक असेंबली का बजट सेशन चल रहा है। 2 फरवरी को सेशन के दौरान सदन में नेताओं के बीच इतना वाद-विवाद हो गया कि सेशन को बीच में ही रोकना पड़ा।

दरअसल विजयपुरा के विधायक बासनगौड़ा पाटिल यतनाल ने स्वतंत्रता सेनानी एचएस दुरैस्वामी को ‘पाकिस्तान का एजेंट’ बताया है। सारा बवाल यहीं से शुरू हुआ है। यतनाल का कई बीजेपी नेताओं ने समर्थन किया है। वहीं कांग्रेस ने यतनाल पर निशाना साधते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। यतनाल ने दुरैस्वामी को ‘फर्जी स्वतंत्रता सेनानी’ बताते हुए कहा था कि ‘वह पाकिस्तानी एजेंट’ थे।

यतनाल ने 25 फरवरी को एक संवाददाता सम्मेलन में यह टिप्पणी कांग्रेस के ‘संविधान बचाओ’ सभा से जुड़े एक सवाल के जवाब में किया था। पाटिल ने कहा, “कई फर्जी स्वतंत्रता सेनानी हैं। एक बेंगलुरु में भी हैं, हमें अब बताना पड़ेगा कि दुरैस्वामी क्या हैं। वह वृद्ध कहां हैं? वह पाकिस्तान के एजेंट की तरह व्यवहार करते हैं?”

एच.एस. दौरेस्वामी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हैं। अपने बयानों में हमेशा मुखर रहते हैं। अक्सर सरकारों के ख़िलाफ़ बोलते रहते हैं।

प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा मंत्री एस सुरेश कुमार ने कोडागु में शनिवार को यतनाल की टिप्पणी पर कहा, “दुरैस्वामी बुजुर्ग हैं और हम सबके वरिष्ठ हैं। उन्होंने कई विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा लिया है। उन्हें भी ध्यान देना चाहिए कि क्या बोलना चाहिए और इससे किसकी भावनाएं आहत होंगी। हम सबने देखा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में क्या कहा। अगर आप बुरा बोलेंगे तो बुरा सुनेंगे भी।”

यतनाल की इन टिप्पणियों के बाद विपक्षी दलों ने उनकी कड़ी आलोचना की है। कांग्रेस यतनाल की विधानसभा सदस्यता समाप्त करने की मांग कर रही है।

admin