एक ही परिवार के 17 सदस्यों की रिपोर्ट के इंतजार में फूल रही सांसें

ब्यूरो | मंदसौर

राजस्थान के कोरोना मरीज के मंदसौर आने के बाद उससे मिलने वाले 20 संदिग्धों की रिपोर्ट बुधवार को नहीं आई। शहर में कुछ दिनों पहले रिश्तेदार के यहां गमी में शामिल होने के लिए जोधपुर से एक व्यक्ति मंदसौर आया था, जिसकी रिपोर्ट सोमवार को जोधपुर में कोरोना पॅाजिटिव आई। इसकी जानकारी प्रशासन को लगते ही मंदसौर में जिस परिवार में जोधपुर से व्यक्ति आया था, उस परिवार के सभी 17 सदस्यों को क्वॉरेंटाइन किया गया है। इस परिवार के सदस्य मेघदूत नगर, रामटेकरी और नगर पालिका कॉलोनी में रहते हैं और प्रशासन द्वारा गलियों को पूरी तरह सील किया हुआ है। ऐसे में रहवासियों में भी भय व्याप्त है। सभी दुआएं कर रहे कि रिपोर्ट नेगेटिव आए। वहीं रिपोर्ट के इंतजार में प्रशासन की भी सांसे फूली हुई है।

मल्हारगढ़ तहसील कार्यालय में काम करने वाले नायाब नाजिर जो कि मंदसौर मेघदूत नगर में रहते है। उनकी सास के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए जोधपुर से इनका एक रिश्तेदार मंदसौर 26 मार्च को आया था। वह 24 घंटे मंदसौर रूका था। उसके बाद वह जोधपुर चला गया था। वहां पर उसको सोमवार को कोरोना पॉजिटिव आया है। जिसके बाद संबंधित परिवार के तीनों परिवार जो कि मेघदूत नगर में 11 सदस्य, रामटेकरी में दो सदस्य और गोल चौराहा के पास नगर पालिका कॉलोनी में भाई के परिवार के 4 सदस्य रहते हैं। सभी 17 सदस्यों को क्वॉरेंटाइन किया गया है। सभी के सेंपल जांच के लिए इंदौर भेजे गए हैं।

डॉ. डीके शर्मा ने बताया कि दोनों भाइयों ने अपने-अपने कार्यालय में काम किया है। मल्हारगढ़ तहसील कार्यालय में काम करने वाले और शहरी विकास अभिकरण में काम करने वाले सभी कर्मचारियों और अधिकारी की ऐहतियातन तौर पर सूची बनाई है। मल्हारगढ़ तहसील में 14 से 15 लोगों की सूची है। इसमें तहसीलदार से लेकर अन्य कर्मचारी है। सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को होम आइसोलेशन पर तब तक रखा गया है, जब तक कि रिपोर्ट नहीं आती है। इसके अलावा कलेक्टोरेट में संचालित शहरी विकास प्राधिकरण को भी सूचित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि लदूना में एक बुजुर्ग महिला का स्वास्थ्य खराब है। उनके साथ बेटा-बेटी है। तीनों को ऐहितयातन तौर पर क्वॉरेंटाइन किया गया है। इसमें बुजुर्ग महिला का सेंपल जांच के लिए भेजा गया है।

बाहर से आने वाला हर व्यक्ति 14 दिन के आइसोलेशन में

जिले में अब तक विदेश या देश के अन्य हिस्सों से 7894 यात्री आए हैं, जिसमें से 4813 को होम आइसोलेशन में रखा गया है। वहीं, कुल 51 संदिग्धों की जांच की गई थी, जिसमें से 30 की रिपोर्ट आ चुकी है, जो सभी नेगेटिव हैं। एक संदिग्ध का सेंपल आज भेजा है, वहीं पूर्व की 20 रिपोर्ट आना शेष है, जिसमें से 17 एक ही परिवार के सदस्य व रिश्तेदार हैं। कलेक्टर द्वारा बताया गया कि पड़ोसी जिलों और राजस्थान में कोरोना वायरस के संक्रमण की बढ़ती संख्या को देखते हुए प्रशासन ने सख्त निर्णय लिया है। बाहर से जिले में आने वाले अब हर व्यक्ति को 14 दिन होम आइसोलेशन में रहना पड़ेगा।

admin