चीन के रिसर्चर लिऊ की गोली मारकर हत्या

बीजिंग

कोरोना को लेकर करने वाला था बड़ा खुलासा

चीन के एक रिसर्चर ने दावा किया था कि उसने कोरोना वायरस को लेकर एक बहुत बड़ी खोज कर ली है। इसके कुछ ही देर बाद उनकी संदिग्ध परिस्थितियों में हत्या हो गई। पुलिस अभी तक ये पता नहीं लगा पाई है कि इस हत्या का मकसद क्या था। हत्या करने वाले ने बाद में खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली।

चीन के उस रिसर्चर का नाम डॉक्टर बिंग लिऊ बताया जा रहा है। बिंग लिऊ यूनिवर्सिटी ऑफ पिट्सबर्ग मेडिकल सेंटर में काम कर रहे थे। 37 साल के डॉक्टर बिंग लिऊ अपने अपार्टमेंट में अकेले थे। रॉस टाउनशिप के उनके अपार्टमेंट में शनिवार दोपहर को एक आदमी घुसा था। उस आदमी का नाम हाओ गू बताया जा रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक हाओ गू डॉक्टर बिंग लिऊ के खुले दरवाजे से उनके फ्लैट में घुस गया और घुसते ही गोलियां चलानी शुरू कर दीं। लिऊ के सिर, गर्दन और शरीर के दूसरे हिस्सों में गोलियां लगीं। वहीं पर लिऊ की मौत हो गई। एक बयान में कहा गया है कि लिऊ कोरोना वायरस को लेकर एक बड़ी खोज के करीब थे। वो कोरोना के संक्रमण के सेल्यूलर मैकेनिज्म को लेकर रिसर्च कर रहे थे। यूनिवर्सिटी ऑफ पिट्सबर्ग मेडिकल सेंटर की तरफ से कहा गया है कि अब वो कोशिश करेंगे कि लिऊ के अधूरे काम को पूरा किया जा सके।

admin