दो किमी पीछे हटी चीनी सेना

नई दिल्ली

गलवान विवाद… हिंसक झड़प के 20 दिन बाद चीन ने पूर्वी लद्दाख में 4 जगहों से सेना वापस बुलाई, विवादित क्षेत्र से तंबू और अन्य अस्थायी ढांचे भी हटाए

पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में हुए हिंसक झड़प के 20 दिन बाद आखिरकार चीन झुक गया। 48 घंटों तक चली गहन कूटनीतिक चर्चा और भारत की सैन्य सतर्कता से बढ़े दबाव के चलते चीनी सैनिक पीछे हटने को मजबूर हुए। पूर्वी लद्दाख के चार जगहों, पेट्रोलिंग प्वाइंट-14 (गलवान घाटी), पेट्रोलिंग प्वाइंट-15, गोगरा हॉट स्प्रिंग और फिंगर क्षेत्र से चीनी सेना पीछे हट गई है। चीन ने विवाद वाले क्षेत्र से अपने तंबू, अस्थायी निर्माण को भी हटा लिया है और सैनिकों को 1 से 2 किलोमीटर तक पीछे कर लिया है। हालांकि उसके भारी बख्तरबंद वाहन गलवान नदी क्षेत्र के गहराई वाले इलाके में मौजूद हैं।

गलवान घाटी में 15 जून की रात को हुई हिंसक झड़प के बाद तनाव कई गुना बढ़ गया था। इसे कम करने की कोशिशें तब तेज हुईं, जब शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक लद्दाख पहुंचे।

डोभाल से वार्ता के बाद बदला रवैया, कहा…ऐसा कुछ नहीं करेंगे जिससे विवाद बढ़े

 

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल और चीन के विदेश मंत्री वान्ग यी के बीच एलएसी पर विवाद को लेकर रविवार को बातचीत हुई। वीडियो कॉल पर दोनों के बीच करीब दो घंटे वार्ता हुई। डोभाल को सरकार ने इस मामले में विशेष प्रतिनिधि नियुक्त किया है। इसके कुछ ही घंटों बाद चीन ने सेना वापस बुलाने का फैसला किया। वान्ग यी ने कहा कि अब दोनों पक्ष ऐसा कोई कदम नहीं उठाएंगे जिससे विवाद बढ़े। दोनों पक्षों को रणनीतिक फैसलों का पालन करना चाहिए जो एक-दूसरे को खतरा न पहुंचाएं।
वान्ग ने कहा कि दोनों पक्ष दोनों देशों के नेताओं की बनाई गई सहमति का पालन करने के लिए सहमत हुए हैं। हमें कोशिश करनी चाहिए कि सीमा के मुद्दे विवाद की शक्ल न लें।

उधर…साउथ चाइना सी में गरजे अमेरिकी बमवर्षक

साउथ चाइना सी में अमेरिका और चीन की नौसेना के एक साथ युद्धाभ्यास करने से माहौल तनावपूर्ण हो गया है। परमाणु हथियारों से लैस अमेरिका के 11 लड़ाकू विमानों के एक साथ विवादित इलाके में उड़ान भरी, यह देख चीन हैरान रह गया। चीनी मीडिया ने इसे शक्ति का खुला प्रदर्शन करार दिया है। अमेरिकी विमानों ने एयरक्राफ्ट कैरियर निमित्ज से उड़ान भरी। निमित्ज के साथ यूएसएस रोनाल्ड रीगन भी युद्धाभ्यास में हिस्सा ले रहा है।

 

admin