लॉकडाउन के बीच कोहली के खिलाफ़ आयी शिकायत, बीसीसीआई ने कहा- ब्लैकमेल करने की कोशिश

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

इस समय कोरोना वायरस के कारण क्रिकेट पूरी तरह से ठप्‍प पड़ा हुआ है। भारतीय क्रिकेटर्स भी मैदान पर वापसी का इंतजार कर रहे हैं। यहां तक कि खुद क्रिकेटर्स को भी नहीं मालूम कि मैदान वापसी कब तक संभव है।

इसके बीच भारतीय क्रिकेट के कप्तान घर बैठे बैठे बड़ी मुश्किल में फंस गए हैं। खबर आ रही है कि संजीव गुप्ता ने बीसीसीआई के एथिक्स ऑफिसर डीके जैन को पत्र लिखकर कोहली के खिलाफ शिकायत की थी।

कोहली ने लोढ़ा कमेटी का उल्लंघन किया है

संजीव ने अपनी शिकायत पत्र में लिखा है कि कोहली की कंपनी ने लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों का उल्लंघन किया है। लोढ़ा समिति की सिफारिश के बाद कई क्रिकेटरों पर हितों के टकराव के आरोप लगे हैं।

आरोप पत्र के मुताबिक विराट कोहली दो पदों पर काबिज हैं एक तो वह टीम इंडिया के खिलाड़ी और कप्तान हैं, वहीं दूसरे वह खेल मार्केटिंग कंपनी के निदेशक भी हैं, जो साथी क्रिकेटरों से अनुबंध करती है।

उन लोगों को ब्लैकमेल करने की कोशिश है

बोर्ड के एक अधिकारी ने बीते कुछ वर्षो से आ रही शिकायतों को लेकर आईएएनएस से बात करते हुए कहा, “इनका पैटर्न एक है और साथ ही कहा है कि यह उथल-पुथल मचाने और उन लोगों को ब्लैकमेल करने की कोशिश है जिन्होंने देश के लिए काफी कुछ किया है।”

अधिकारी ने आगे कहा कि एक बार आप जब शिकायतों को देखेंगे तो पता चल जाएगा कि यह शिकयतें प्रेरित हैं। कोई न कोई बीसीसीआई अधिकारियों को घेरने की कोशिश कर रहा है और अब वह भारतीय टीम के कप्तान को किसी कारण से घेर रहा है। जो बीते छह साल में हुआ है, यह पैटर्न साफ दिखाई दे रहा है।

आप ईमेल और उसकी भाषा को देख लीजिए, मंशा साफ पता चल रही है कि यह सफल लोगों के दामन पर दाग लगाने की कोशिश है। इसके पीछे कोई न कोई प्रेरणा है। इस तरह की शिकायत के लिए वैधस्थिति का अधिकार जरूरी है। नहीं तो इस तरह के इ-मेल का कोई अंत नहीं होगा।

गांगुली पर भी हितों के टकराव का आरोप लगा है

बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली पर भी हितों के टकराव का आरोप लगा है। दरअसल गांगुली ने अपने इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर शेयर की है उसके कैप्शन में उन्होंने खुद को जेएसडब्ल्यू सीमेंट का ब्रांड एंबेसडर बताया है।

जेएसडब्ल्यू स्पोर्ट्स आईपीएल की टीम दिल्ली कैपिटल्स का मालिकाना हक रखता है। जेएसडब्ल्यू सीमेंट भी जेएसडब्ल्यू ग्रुप का हिस्सा है। हालांकि दिल्ली कैपिटल्स के पूर्व मेंटर गांगुली को नहीं लगता कि इसमें किसी भी तरह हितों के टकराव का कोई मुद्दा बनता है।

admin