एक बयान के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पुलिस स्टेशन के बाहर बीफ़ परोसा दिया

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। केरल में एक बार फिर बीफ पॉलीटिक्स की शुरुआत हो गई है। दरअसल पुलिस प्रशिक्षुओं के खाने के मैन्यू से बीफ हटाने की खबरों के बीच कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को कोझिकोड में एक पुलिस स्टेशन के सामने बीफ करी और रोटी बांटी। केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव वकील के प्रवीण कुमार ने मुक्कम पुलिस स्टेशन के बाहर बीफ करी और रोटी बांटने के अभियान की शुरुआत की।

प्रवीण कुमार ने संवाददाताओं को बताया, “यह केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन का संघ की ओर झुकाव को दिखाता है। सीएम के रूप में शपथ लेने के तुरंत बाद उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी और इसके बाद के साथ समझ-बूझ बनाकर लोकनाथ बहेरा को पुलिस महानिदेशक बनाया था। लोकनाथ बहेरा ने मोदी और अमित शाह को गुजराज दंगे मामले में क्लीन चिट दी थी। अब वह संघ के एजेंडे को लागू कर रहे हैं। कांग्रेस विजयन के दोहरे रुख को पूरे राज्य के सामने रखेगी।”

इस हफ्ते के शुरू में केरल पुलिस विभाग ने कहा था कि नए प्रशिक्षित पुलिस बैच के लिए निर्धारित मैन्यू से बीफ हटाने की खबरें पूरी तरह से निराधार हैं। इससे पहले मेन्यू को लेकर पुलिस ने यह भी साफ किया है कि ये सरकारी अस्पताल के डाइटीशियन ने तैयार किया है। मेन्यू से बीफ गायब होने को लेकर पुलिस की ओर से कोई भी आधिकारिक बयान नहीं दिया गया है।

पुलिस विभाग ने अपने बयान में आगे कहा कि मेस कमेटी के निर्णय के अनुसार उन्हें निर्देश दिया गया था कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में उपलब्ध भोजन के साथ स्वस्थ भोजन तैयार करें। इसका उद्देश्य प्रशिक्षुओं को आहार के माध्यम से जरूरी ऊर्जा देना है। इस कमेटी में प्रशिक्षुओं के प्रतिनिधि और पुलिस अधिकारी शामिल हैं।

admin