शव के बीच किया जा रहा है कोरोना पेशेंट का इलाज, क्या यही है बिहार का ‘सुशासन’?

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। 

बिहार में कोरोना से संक्रमित मरीजों और मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसी बीच हैरान करने वाला एक वीडियो भी सामने आया है। ये वीडियो बिहार सरकार की स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल उठाने के लिये काफी है।

वीडियो में लगाए जा रहे आरोपों के मुताबिक जिंदा मरीजों के बगल में दो दिन से एक मरे हुए मरीज का शव पड़ा है।

चार महीने से गायब नीतीश जी ज़ुबान नहीं खोलेंगे

तेजस्वी यादव ने कोरोना से संक्रमित लोगों के इलाज व जांच की व्यवस्था पर तल्ख टिप्पणी की है। उन्होंने कहा है कि जो लोग जांच करा रहे हैं, उनकी रिपोर्ट कई दिनों तक नहीं आ रही है।

तेजस्वी ने अपने ट्वीट में लिखा, “बिहार की 15 वर्षीय सुशासनी बदनसीबी देख माथा पकड़िए। संक्रमित कोरोना मरीज़ों के बगल में इलाज के अभाव में मरे संक्रमित व्यक्ति का दो दिन से शव पड़ा हुआ है। सीएम, स्वास्थ्य मंत्री और अधिकारियों को फोन किया लेकिन दो दिन से शव नहीं हटाया गया। 4 महीने से गायब नीतीश जी ज़ुबान नहीं खोलेंगे।”

शव के आसपास कई और मरीज और परिजन भर्ती हैं

शत्रुघ्न नाम के शख्स ने इस वीडियो में दिखाया है कि एक बेड पर एक शख्स की लाश पड़ी है। उसे एक चेक चादर से ढका गया है। शत्रुघ्न का दावा है कि उसने ये वीडियो पटना के अस्पताल में बनाया है। शत्रुघ्न के मुताबिक उनकी मां इसी अस्पताल में भर्ती हैं और उनका इलाज चल रहा है।

इस वीडियो में मृतक के आसपास मौजूद बिस्तरों पर कई और मरीज और उनके परिजन भी भर्ती हैं। हालांकि वीडियो में ये स्पष्ट नहीं है कि वो किस अस्पताल में रिकॉर्ड किया गया है।

जिनका टेस्ट नहीं हुआ, उनकी रिपोर्ट आ रही है

राष्‍ट्रीय जनता दल के कई विधायक 19 दिनों से अपनी रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं, जबकि, जिनका टेस्ट नहीं हुआ, उनकी रिपोर्ट आ रही है। अस्‍पतालों में कोरोना संक्रमितों के शव सड़ रहे हैं। केंद्र व राज्‍य सरकारों द्वारा जारी संक्रमितों के आंकड़े अलग-अलग हैं।

कोविड सेंटर में तैनात मेडिकल स्टॉफ के पास पीपीई किट तक नहीं है। बिहार धीरे-धीरे कोविड-19 का ग्लोबल हॉटस्पॉट बनता जा रहा है। राज्य सरकार को कोरोना संक्रमितों की बढ़ रही संख्या को लेकर कोई चिंता नहीं है।

admin