गुजरात में एक मार्च से सरकारी अस्पतालों में लगेंगे मुफ्त टीके

गांधीनगर/अहमदाबाद । गुजरात में एक मार्च से कोरोना वैक्सीन आम जनता को दी जाएगी। यह टीका शुरुआत में 60 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों और 45 वर्ष से अधिक आयु के बीमार लोगों को दिया जाएगा। यह टीका सरकारी अस्पताल में नि: शुल्क प्रदान किया जाएगा, जबकि निजी अस्पताल में 250 रुपये शुल्क लिया जाएगा। गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने आज यहां यह घोषणा की।

कोरोना वैक्सीन की लागत कितनी होगी? इस पर बहस लंबे समय से चल रही थी। सरकार ने आखिरकार कोरोना वैक्सीन की कीमत की घोषणा कर दी है। कोरोना वैक्सीन सरकारी अस्पतालों में मुफ्त उपलब्ध होगी, जबकि निजी अस्पताल में एक खुराक की कीमत 250 रुपये होगी। इस कीमत में कोरोना वैक्सीन के लिए 150 रुपये और प्रशासन के लिए 100 रुपये शामिल हैं।

गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल कहा कि 10 लाख की आबादी में टीकाकरण में गुजरात का पहला स्थान है। 31 जनवरी से गुजरात में 4.82 लाख स्वास्थ्य कर्मचारियों में से कुल 4.07 लाख यानी 84 प्रतिशत ने पहली खुराक लगवायी है। 5.41 लाख फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं में से 4.14 लाख यानी 77 प्रतिशत ने पहली खुराक लगवायी है। 1.23 लाख स्वास्थ्य कर्मियों यानी 76% ने दूसरी खुराक भी ली है।

इनके बाद अब कोरोना के खिलाफ आम नागरिकों को टीका लगाने की तैयारी चल रही है। अहमदाबाद में एक मार्च से आम नागरिकों को कोरोना वैक्सीन दी जाएगी। पहले चरण में लगभग 50 केंद्रों पर टीकाकरण शुरू किया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा निगमों को एक परिपत्र भेजने के बाद कितने लोगों को टीका लगाया जाएगा, इस पर निर्णय लिया जाएगा।

admin