माकपा-कांग्रेस की सभा में उमड़ा जनसैलाब, बंगाल में परिवर्तन का आह्वान

कोलकाता । पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस और भाजपा का विकल्प बनने के प्रयास में जुटे गठबंधन दलों की जनसभा में भारी भीड़ उमड़ी। इन दलों के दिग्गज नेताओं ने संयुक्त मोर्चा की घोषणा करते हुए जनता से पश्चिम बंगाल में परिवर्तन का आह्वान किया।

रविवार को ब्रिगेड परेड मैदान पर मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा), कांग्रेस और इंडियन सेकुलर फ्रंट (आईएसएफ) के संयुक्त गठबंधन की जनसभा में पूरे राज्य से बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं की भीड़ उमड़ी। इस मौके वाममोर्चा चेयरमैन विमान बसु ने कहा कि ब्रिगेड मैदान पर लोगों की भारी भीड़ का जुटना बंगाल में परिवर्तन होने का संकेत है। लोग विकल्प की तलाश में हैं और इस पर हमारा गठबंधन खरा उतरेगा। उन्होंने संयुक्त मोर्चा बनाने की घोषणा करते हुए कहा कि बंगाल में भाजपा और तृणमूल के खिलाफ कांग्रेस, लेफ्ट और आइसएफ पार्टी एकजुट होकर मुकाबला करेगी और भाजपा और तृणमूल को पराजित करेगी।

वाममोर्चा के अध्यक्ष विमान बसु ने सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘इस संयुक्त मोर्च में कांग्रेस, आइएसएफ और वाममोर्चा का समावेश अद्भुत है। जिस तरह से तृणमूल और भाजपा में रार चल रही है, उससे राज्य के लोगों को मन विषैला किया जा रहा है, गणतंत्र की हत्या हो रही है। संविधान को ध्वस्त किया जा रहा है।” उन्होंने ने कहा कि बंगाल में लोगों की शांति, एकता को नष्ट किया जा रहा है। इस चुनाव में वामपंथी, कांग्रेस और आइएसएफ एकजुट होकर ही भाजपा और तृणमूल का मुकाबला करेंगे।

लोकतंत्र की हत्या कर रही हैं ममता : सूर्यकांत
ब्रिगेड परेड मैदान पर अपने संबोधन में माकपा के राज्य सचिव डॉ. सूर्यकांत मिश्रा ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी लोकतंत्र की हत्या कर रही हैं। यह लोगों में विभाजन की दीवार बना रही हैं। हमारे दलों की एकता इस विभाजन के खिलाफ है। हम आदिवासियों, अनुसूचित जाति और अल्पसंख्यकों के हित की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि लोगों को काम की जरूरत है। इसके लिए राज्य में रोजगार के अवसर बनाने होंगे। लोगों को खाद्य की सुरक्षा देनी होगी और राज्य में निवेश को बढ़ावा देना होगा। उन्होंने कहा कि लोगों की बात सुननी होगी। लोगों तक अपनी बात पहुंचानी होगी। मिश्रा ने कहा कि इस बार बंगाल के लोगों ने ठान लिया है कि बंगाल में ममता बनर्जी को को हटाकर माकपा-कांग्रेस गठबंधन के हाथ सत्ता सौंपेंगे।

admin