चार हिस्सों में बांटा जिले को, कंटेनमेंट एरिया बंद, घर पहुंचेगे फल-सब्जी, दफ्तर-दुकानें खुलेंगी

नगर संवाददाता | इंदौर

अनलॉकिंग इंदौर : लॉकडाउन 5.0 आज से, 7 दिन बाद समीक्षा

31 मई को खत्म हुए लॉकडाउन के बाद इंदौर को चार हिस्सों में बांटकर जिला प्रशासन ने सोमवार से कर्फ्यू में कई रियायतें दी हैं। कोरोना के कारण कंटेनमेंट एरिया बन चुके मध्य क्षेत्र को छोड़कर जिले के तीन हिस्सों में सुबह

8 से शाम 7 बजे तक करीब-करीब सभी तरह की दुकानें खुल सकेंगी। बशर्ते इन दुकानों पर कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करना पड़ेगा। उल्लंघन की स्थिति में स्पॉट फाइन से लेकर लाइसेंस निरस्ती की कार्रवाई भी की जाएगी।

कलेक्टर मनीष सिंह ने इंदौर जिले के लिए अनलॉक-1 की गाइडलाइन जारी की। सिंह ने 65 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों, गर्भवती और बच्चों के घर से निकलने पर पाबंदी कायम रखी। स्कूल-कॉलेज में इंटरनल वर्किंग की मंजूरी दी। सोमवार से मध्य क्षेत्र को छेाड़कर अन्य क्षेत्रों में 33 से 50 प्रतिशत स्टाफ के साथ कई अन्य सरकारी व गैर सरकारी कार्यालयों को खोला जा सकता है। किराना, फल-सब्जी, स्टेशनरी और अंडे की आपूर्ति घर पहुंच होगी। ताकि दुकानों पर भीड़ न लगे।

मध्य क्षेत्र में किसी तरह के निर्माण की अनुमति नहीं है। अन्य हिस्सों में अधूरी सरकारी निर्माणों को पूरा करने की छूट है। बाकी ग्रामीण क्षेत्र व जिलों में कोई भी निर्माण कार्य हो सकते हैं।

कलेक्टर मनीषसिंह के निर्देशानुसार हर सात दिनों में प्रतिबंधों में दी जा रही छूट संक्रमण फैलने के विभिन्न पैरामीटर्स, रेड-यलो अस्पताल में आईसीयू, आक्सीजन, सामान्य बेड की उपलब्धता की जांच आईएमए अध्यक्ष के नेतृत्व में होगी। सात दिन के बाद आगे दी जाने वाली छूट पर युक्तियुक्तपूर्ण निर्णय लिया जाएगा। दी जाने वाली हर छूट की बारीकी से मॉनीटरिंग की जाएगी। जरुरत पड़ने पर सुधार करेंगे।

  1. सम्पूर्ण ग्रामीण क्षेत्र व अन्य नगरीय क्षेत्र

धर्मस्थल, शैक्षणिक संस्थाएं, होटल, रेस्टोरेंट, क्लब, स्वीमिंग पुल, सार्वजनिक परिवहन, शापिंग माल्स, जिम, सार्वजनिक सभाएं छोड़कर अन्य गतिविधियों को अनुमति। कर्फ्यू- रात 7 से सुबह 7 बजे तक।

65 साल से अधिक उम्र के व्यक्ति (गंभीर बिमार), गर्भवती तथा 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे घरों में ही रहेंगे। सिर्फ मेडिकल इमरजेंसी/ मेड़ीकल चेकअप के लिए निकलेंगे। नगरीय क्षेत्र (राऊ, गौतमपुरा, हातोद, मानपुर, देपालपुर, सांवेर तथा बेटमा) में अति आवश्यक व सामान्य आवश्यक दुकानें सुबह 8 से शाम 5 बजे तक खुलेंगी। इनमें ग्रॉसरी/सांची पॉइंट/मेडिकल/दूध डेयरी/फल-सब्जी (घर पहुंच सेवा)/बैकरी/नमकीन-मिठाई (घर पहुंच) अंडा-पोल्ट्री शॉप (घर पहुंच) स्टेशनरी(घर पहुंच)/इलेक्ट्रिकल आईटम्स/मोबाइल फोन/पंखे-कूलर-एसी, पेट्रोल पंप/कूरियर सेवा/रिपेयरिंग शॉप्स सभी होम अप्लायसेंस, गैराज/आटाचक्की/लॉण्ड्री/कृषि उपकरण/खाद-बीज-कीटनाशक/एमपी ऑनलाईन (कियोस्क)। सुबह 10 से शाम 4 बजे तक खुलेंगे। गारमेंट/होजियरी/टेलरिंग शॉप्स/ पीपी बैग्स-पेपर बैग्स/प्लास्टिक सामग्री/ट्रेवल-स्कूल बैंग्स/बर्तन/क्रॉकरी/होम एप्लायंसेज/कम्प्यूटर्स/इलेक्ट्रॉनिक आईटम्स/ हार्डवेयर/मोटर्स/लुब्रिकेंट्स/ऑटोपार्ट्स/ऑटो शो-रूम्स, फोटोकापी/फोटोग्राफर्स/ट्रेवल एजेंसी, साईकिल

2. इंदौर निगम सीमा क्षेत्र के 29 गांव और मध्य क्षेत्र

अति-आवश्यक : समय प्रातः 8 से साय 5 बजे तक । ग्रॉसरी/ सांची पाईंट/मेडीकल/दूध डेयरी/फल-सब्जी (घर पहुंच)/बेकरी/नमकीन-मिठाई (घर पहुंच), अंडा-पोल्ट्री शॉप (घर पहुंच) स्टेशनरी (घर पहुंच), इलेक्ट्रिकल आईटम्स /मोबाईल फोन / पंखे-कूलर-एसी / पेट्रोल पंप/कूरियर सेवा/रिपेयरिंग शॉप्स (जैसे-मोबाईल /कम्प्यूटर/ मोटर्स सेवा, अन्य सभी होम अप्लायसेंस) /गैराज/आटाचक्की /लाण्ड्री / कृषि उपकरण/खाद-बीज-कीटनाशक /एमपीऑनलाईन(कियोस्क)। विवाह एवं अन्य पारिवारिक समारोह। 12 व्यक्तियों के साथ उपस्थिति अनिवार्य। मंजूरी एडीएम बीबीएस तोमर से लेना होगी। इसी तरह अंतिम यात्रा-जनाजे में 5 व्यक्तियों की अनुमति रहेगी। बिना अनुमति के जिले से बाहर पार्थिव देह अस्पताल से नहीं ले जाएंगे। जिले में स्थित श्मशानगृह/ कब्रस्तान पर अंतिम संस्कार करना होगा। पार्थिव देह का अंतिम संस्कार आसपास के श्मशानगृह/ कब्रस्तान पर ही करना होगा। टेलिकॉम सर्विसेस/मेंटेनेंस कार्यालय और फील्ड स्टाफ के 33 प्रतिशत स्टाफ के साथ ऑफिसों मंं काम होगा।

3. इन्दौर नगर निगम सीमा क्षेत्र के अन्दर मध्य क्षेत्र

होम डिलीवरी को प्राथमिकता, ऑनलाइन ऑर्डर पर काम। कोरोना संक्रमण की दृष्टी से अति संवेदनशील क्षेत्र है। यहां सबसे ज्यादा कंटेनमेंट एरिया है। आबादी का घनत्व ज्यादा है। सड़कें तंग है। अधिकतर दुकानें हैं। कोरोना को देखते हुए इस क्षेत्र में व्यावसायिक गतिविधि मंजूर नहीं की जा सकती। सिर्फ ग्रॉसरी/किराना शॉप को सुबह 8 से शाम 7 बजे तक की अनुमति। दुकानों पर फोन/ वाट्सएप पर बुकिंग लेना होगी। घर-घर डिलीवरी देना होगी। ग्राहक प्रतिबंधित रहेंगे। उल्लंघन करने पर स्पॉट फाइन और दुकान का लाइसेंस रद्द होगा। मेडिकल शॉप्स चालू रहेंगी। ऑटोरिक्शा और ठेले पर फल-सब्जी की घर-घर पहुंच सेवा सुबह 8 से शाम 5 बजे तक रहेगी। टेलीफोन नेटवर्क से संबंधी केवल मेंटेनेंस होंगे। कोई कार्यालय खोलने की अनुमति नहीं रहेगी। बच्चों के भविष्य को देखते हुए सिर्फ खजूरी बाजार की स्टेशनरी शॉप खुले बिना गोदाम से सामग्री दी जाएगी। अन्य जिलों में फोन/वाट्सएप पर बुकिंग लेकर शैक्षणिक सामग्री प्रदाय कर सकेंगे। ग्राहकों की उपस्थिति से लाइसेंस रद्द हो जाएगा। दुकानदार फोन पर आर्डर लेकर काम करेंगे।

4.इंदौर में शामिल 29 गांवों की स्थिति

शहरी सीमा में शामिल 29 गांवों निपानिया, पिपल्याकुमार, कनाड़िया, टिगरिया राव, भिचौली हप्सी, बिचौली मर्दाना, नायता मुण्डला, पालदा, लिम्बोदी, बिलावली, फतनखेड़ी, कैलोद कर्ताल, निहालपुर मुण्डी, हुक्मा खेड़ी, सुखनिवास, अहिरखेड़ी, छोटा बांगड़दा, टिगरिया बादशाह, रेवती बरदरी, भंवरासला, कुमेडी, भानगढ़, शक्कर खेड़ी, तलावली चांदा, अरण्डिया, लसूड़िया मोरी, मायाखेड़ी एवं बड़ा बांगड़दा में छूट – अति-आवश्यक… सुबह 8 से शाम 5 बजे तक) : ग्रॉसरी/सांची पाईट/मेडीकल/दूध डेयरी/फल-सब्जी (घर पहुंच), बेकरी, नमकीन-मिठाई (घर पहुंच), अंडा-पोल्ट्री शॉप(घर पहुंच)/स्टेशनरी (घर पहुंच। इलेक्ट्रिकल आईटम्स/मोबाईल फोन /पंखे-कूलर-एसी/पेट्रोल पंप/कूरियर सेवा/रिपेयरिंग शॉप्स, गैराज/ आटाचक्की/लॉण्ड्री/कृषि उपकरण/खाद-बीज-कीटनाशक / एमपीऑनलाईन(कियोस्क)।

सामान्य आवश्यक… सुबह 10 से शाम 4 बजे। होजयरी/टेलरिंग शॉप्स/पीपीबैग्स, पेपर, गारमेंट, प्लास्टिक सामग्री, ट्रेवल-स्कूल बैग्स/बर्तन/क्रॉकरी/होम एप्लायंसेज/कम्प्यूटर्स/इलेक्ट्रॉनिक आईटम्स, हार्डवेयर/मोटर्स/लुब्रिकेंट्स/ऑटोपार्ट्स/ऑटो शो-रूम्स, फोटोकॉपी, फोटोग्राफर्स/ट्रेवल एजेंसीज।
निम्न आवश्यकता… सुबह 11 से शाम 4 बजे तक। बैग्स/गृहोपयोगी साईकिल, ज्वेलरी/घड़ी/बेंगल्स/ टॉयज/लेदर गुड्स/स्पोर्ट्स गुड्स/जिम-हेल्थ केयर उपकरण/होम डेकोरेशन-होम फर्निशिंग/नर्सरी-फ्लॉवरिस्ट/टेंट हाउस/सीमेंट/सरिया/लकड़ी-प्लाईवुड/टाईल्स-सेनेटरी एवं बाथरूम फिटिंग/फर्नीचर/ ग्रेनाईट/मार्बल एवं स्टोन्स/पेंट/कार्पेट।

यहां इन कार्यालयों को भी अनुमति… सभी तरह के उद्योग, 50 फीसदी स्टाफ के साथ सीए-सीएस, टैक्स कंसलटेंट, आईटी, सॉफ्टवेअर कंपनी/बीपीयू/ डेटा इंट्री से जुड़े कार्यालय। एटीएम, बैंक, बीमा कंपनी, बीमा एजेंट का कार्यालय व घर पहुंच सेवा देना, क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी, पोस्ट आफिस, कियोस्क बैंकिंग संचालित हो सकेंगे।

अन्य मंजूरी भी… सभी सरकारी-अर्ध सरकारी अधूरे निर्माण। कारपेंटर, इलेक्ट्रिशियन, प्लम्बर आदि भी इन निर्माण स्थलों पर काम कर सकेंगे। सरकारी और निजी शैक्षणिक संस्थाओं में 33 प्रतिशत स्टाफ उपस्थिति में केवल कार्यालय संचालित हो सकेंगे। अन्य कोई गतिविधि नहीं होगी।

admin