गुरूवार के दिन न करें ये काम, आर्थिक तंगी के हो सकतें हैं शिकार

आज का दिन गुरूवार (Thursday) है जो एक पावन दिन है और आप तो जानते ही हैं कि आज के दिन बृहस्‍पति देव की पूजा की जाती है ।  इसी के साथ आज के दिन भगवान विष्‍णु की भी पूजा अर्चना की जाती है ।  इतना ही नहीं गुरुवार (Thursday) को साईं का दिन भी माना जाता है। यही कारण है कि इस दिन बहुत से काम को करने पर रोक लगाई गई है। बहुत से लोगों को इन सब के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती, जिसके कारण वो अनजाने में गलतियां कर बैठते हैं और उन्हें इससे काफी नुकसान पहुंचता है। आज इस लेख के माध्‍यम से हम आपको बतानें जा रहें हैं कि आज के दिन किन कार्यों को करना माना जाता है अशुभ तो आइये जानतें है –

गुरुवार (Thursday) को भूलकर भी न करें ये काम
-वीरवार को खाली दिन माना गया है, जिसके कारण इस दिन कोई भी नया काम शुरु नहीं करना चाहिए।

– गुरु ग्रह को जीव भी कहा जाता है। गुरुवार (Thursday) को नाखून काटने और शेविंग करने से गुरु ग्रह कमजोर होता है, जिससे जीवन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

– बाल में नहीं लगाना चाहिए साबुन, न ही बाल कटाएं।

– महिलाएं अगर अपना सिर धोती हैं या बाल कटाती हैं तो इससे बृहस्पति कमजोर होता है और पति व संतान की उन्नति रुक जाती है।

– घर में पोछा ना लगाएं। घर में अधिक वजन वाले कपड़ों को धोने, कबाड़ घर से बाहर निकालने, घर को धोने या पोछा लगाने से बच्चों, पुत्रों, घर के सदस्यों की शिक्षा, धर्म आदि पर शुभ प्रभाव में कमी आती है ।

– गुरुवार (Thursday) को लक्ष्मी-नारायण दोनों की एक साथ पूजा करने से जीवन में खुशियां आती हैं और पति-पत्नी के बीच कभी दूरियां नहीं आतीं। साथ ही धन में भी वृद्ध‍ि होती है।

– इस दिन लक्ष्मी को ना करें नजरअंदाज गुरुवार (Thursday) को नारायण का दिन होता है, ये बात तो ठीक है।

आज के दिन करें ये उपाय 
-सबसे पहले गुरुवार (Thursday) के दिन सुबह सूर्योदय से पहले उठें. उसके बाद स्नान कर साफ कपड़े पहनें.

-किसी चौकी पर साफ वस्त्र बिछाकर उस पर भगवान विष्णु जी की प्रतिमा स्थापित करें.-विष्णु जी को पीली चीजें अत्याधिक प्रिय है. इसलिए भगवान विष्णु को पीले फूल और पीले फल का भोग लगाएं.

-इसके बाद भगवान विष्णु जी को धूप व दीप दिखाएं. विष्णु जी की आरती जरूर करें.

-गुरुवार (Thursday) के दिन केले के वृक्ष की पूजा का विशेष महत्व है. इसलिए इस दिन केले के वृक्ष की पूजा अवश्य करें.

नोट- उपरोक्त दी गई जानकारी व सूचना सामान्य उद्देश्य के लिए दी गई है। हम इसकी सत्यता की जांच का दावा नही करतें हैं यह जानकारी विभिन्न माध्यमों जैसे ज्योतिषियों, धर्मग्रंथों, पंचाग आदि से ली गई है । इस उपयोग करने वाले की स्वयं की जिम्मेंदारी होगी ।

admin