एनर्जी वेपन ‘काली’ दुश्मन की मिसाइलों को भी मार गिराएगा

मनोज बिनवाल | नई दिल्ली

एंटी ड्रोन सिस्टम या एनर्जी वेपन?

भारत के गोपनीय एनर्जी लेजर वेपन काली (KALI किलो एंपियर लििनयर इंजेक्टर) का बेहद ही छोटा स्वरूप स्वतंत्रता दिवस पर पहली बार सामने आया। स्वतंत्रता दिवस पर ड्रोन और हवाई हमले से प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए डीआडीओ का बनाया एंटी ड्रोन सिस्टम (संभवत: काली-80 या इसका और छोटा उपकरण) को लाल किले पर तैनात किया गया था।

सरकार ने अधिकारिक तौर पर इस बारे कुछ नहीं बताया है, लेकिन यह एनर्जी आधारित वेपन है। यह अपनी अदृश्य इलेक्ट्रोमैग्नेटिक तरंगों से हमला करता है। तीन किलोमीटर की रेंज में के किसी भी ड्रोन का पता लगाकर एनर्जी वेपन से ड्रोन को जाम करता है और उसके इलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम, चिप आदि को खराब कर मार गिराता है। दरअसल यह इससे कहीं अधिक खतरनाक है।

           लालकिले पर तैनात एंटी ड्रोन सिस्टम।

अधिक पावर (5000, 10,000) वाला एनर्जी वेपन हैलीकाप्टर, मिसाइल, लड़ाकू विमान, टैंक, एवाक्स, पंडुब्बियों, नौसैनिक जहाजों और सेटेलाइट को भी मार गिराने में कारगर है। इसे लड़ाकू विमानों में लगाकर दुश्मन विमान के रडार को ब्लॉक किया जा सकता है और उसकी मिसाइलों को टारगेट से भटकाया जा सकता है। सूत्रों का कहना है कि अभिनंदन वाले प्रकरण के बाद भारत पर हमला करने आए पाकिस्तानी एफ-16 से दागी गई एनरान और अन्य मिसाइलों को सुखााई ने इसी सिस्टम की मदद ने नाकाम कर दिया था। लाल किले पर तैनात एनर्जी वेपन काली-80 या उसका उससे भी छोटा रूप हो सकता है।
(लेखक रक्षा मामलों के जानकार हैं।)

भारत के पास काली के पांच वेरियंट

पब्लिक डोमेन में उपलब्ध जानकारी के अनुसार भारत के पास काली के पांच वेरियंट काली-80, 200, 1000,5000और 10000 हैं। काली के 1000,5000 और 10000 वेरियंट सेटेलाइट, बेलिस्टिक मिसाइल और लड़ाकू विमानों के इलेक्ट्रानिक्स सिस्टम को नष्ट कर उन्हें निष्क्रिय कर देता है। काली 10000 उपकरण 100 मिलीसेकंड में 40 गीगावाट एनर्जी उत्पन्न करता है। काली के बारे में संसद में पूछे गए एक सवाल का तत्कालीन रक्षा मंत्री मनोहर परिक्कर ने यह कहकर जवाब देने से इंकार कर दिया था कि यह भारत का बेहद गोपनीय और महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट है। काली प्रोजेक्ट को भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र ने 1985 में आरंभ किया था। 1989 से बार्क और डीआरडीओ इस पर काम कर रहे हैं।

 

admin