फ़िरोज़ाबाद रेप पीड़िता के परिवारवालों ने केस वापस नहीं लिया तो पिता की कर दी हत्या

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। रेप की घटनाओं में हमारे देश में खासकर उत्तर प्रदेश में जिस तरह बाढ़ आ रही है, उससे ऐसा लगता है कि हमारा देश रेप कैपिटल में तब्दील हो चुका है। दूरदराज के इलाकों में तो छोड़िये, देश की राजधानी दिल्ली के एक प्रतिष्ठित कॉलेज में वार्षिकोत्सव तक में पुलिस और बाउंसरों की मौजूदगी में लड़कियों का यौन उत्पीड़न होता है तो बाकी का क्या कहना।

अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि लड़की का बलात्कार करने के बाद अगर कोई शिकायत करता है तो शिकायत वापस लेने के लिए न सिर्फ डराया-धमकाया जाता है, बल्कि हत्या तक कर दी जाती है।

दरअसल उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जनपद में रेप के आरोपी द्वारा पीड़िता के पिता की गोली मारकर हत्या करने के मामले में एसएसपी ने शिकोहाबाद और उत्तर के इंस्पेक्टर और कोटला रोड चौकी प्रभारी को सस्पेंड कर दिया है।

मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया था कि आरोपी ने एक फरवरी को यह धमकी दी थी कि अगर उन्होंने रेप के केस में समझौता नहीं किया तो वो उनकी हत्या कर देगा। परिजनों ने पुलिस से इसकी शिकायत की थी, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

मृतक के भाई ने मीडिया से हुई बातचीत में कहा, “बलात्कार आरोपी आचमन उपाध्याय के खिलाफ रेप और पॉक्सो एक्ट के तहत हम लोगों की तरफ से मुक़दमा दर्ज कराया गया था, मगर पिछले साल अगस्त से लेकर अब तक अभियुक्त को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पायी है। दूसरी तरफ वह लगातार हमारे परिवार को जान से मारने की धमकियां दे रहा था। लगभग 10 दिन पहले ही उसने हमें धमकी दी थी कि रेप का मुक़दमा वापस ले लो, नहीं तो ज़िंदा नहीं बचोगे। हमने इसकी शिकायत पुलिस में की थी, मगर उसे अनसुना कर दिया गया। इसी का परिणाम है कि आज मेरा भाई हमारे बीच नहीं है।”

यह घटना उत्तर कोतवाली के तिलक नगर की है, जहां रहने वाली एक किशोरी के साथ अगस्त 2019 में शिकोहाबाद में रेप की वारदात हुई थी। इस घटना में आचमन उपाध्याय नाम के एक युवक के खिलाफ केस दर्ज कराया गया था। लेकिन आरोपी आज तक गिरफ्तार नहीं हुआ। हालांकि उसकी पहचान हो चुकी है।

फरारी के दौरान वो लगातार पीड़ित के पिता पर केस वापस लेने का दवाब बना रहा था। बीते एक फरवरी को भी उसने धमकी दी थी कि अगर समझौता नहीं किया तो वो पांच दिन के अंदर उसकी हत्या कर देगा।

इस मामले में जांच कर रही पुलिस का कहना है कि फ़िरोज़ाबाद जनपद के के थाना उत्तर क्षेत्र के रहने वाले लड़की के पिता की बाइक सवार दो लोगों ने सोमवार 10 फरवरी की देर शाम गोली मारकर हत्या कर दी। गोली मारने के बाद आरोपी भाग गये और आसपास के लोग उन्हें अस्पताल लेकर गए, जहां इलाज के दौरान अगले दिन 11 फरवरी को उन्होंने दम तोड़ दिया। हमलावर हत्या करने के बाद भाग गये थे और पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

इस हत्याकांड से सवाल यह भी उठता है कि क्या पुलिस किसी की हत्या का इंतजार कर रही थी, नहीं तो ऐसा क्यों होता कि शिकायत के बावजूद आरोपी खुला घूम रहा था और न सिर्फ खुला घूम रहा था, बल्कि सरेआम रेप पीड़िता के पिता की हत्या भी कर देता है।

admin