पूर्व मंत्री पटवा का बंगला हुआ कुर्क

विनोद शर्मा | इंदौर

निगम को संपत्ति कर में भी सेंध

36.65 करोड़ के लोन की रिकवरी के लिए वित्त एवं राजस्व विभाग ने पूर्व मंत्री और भाजपा विधायक सुरेंद्र पिता समरथ पटवा के गुलमर्ग कॉलोनी स्थित बंगले को कुर्क किया गया है। इस हवेली का वास्तविक क्षेत्रफल 4000 वर्गफीट है, जिसपर दो मंजिला निर्माण है। निगम के रिकॉर्ड को देखे तो कुल निमार्ण 2750 वर्गफीट है। यानी पटवा निगम को संपत्ति कर में भी सेंध लगा रहे थे।

पूर्व मुख्यमंत्री सुंदरलाल पटवा के दत्तक पुत्र सुरेंद्र पटवा शिवराज सरकार में पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री रह चुके हैं। वे फिलहाल भोजपुर से विधायक हैं। पटवा ऑटोमेटिव प्रा.लि. के डायरेक्टर भी। इस कंपनी ने 16 सितंबर 2014 को 36 करोड़ 61 लाख का लोन बैंक ऑफ बड़ौदा से लिया था।

2017-18 में बैंक ने डिफॉल्टर घोषित कर दिया। 2018 में बैंक ने पटवा आटोमोटिव और उसके जमानतदारों के विरुद्ध प्रतिभूतिकरण एवं पुनर्गठन व प्रतिभूति हित प्रवर्तन अधिनियम 2002 की धारा 13 (12) के नियम 9 के अंतर्गत कार्रवाई की। 2019 में हाईकोर्ट ने स्टे दिया। स्टे खत्म होने के बाद बैंक ने कलेक्टर की शरण ली।

डीएम के आदेश पर वित्त विभाग टीम गुलमोहर कॉलोनी पहुंची। यहां प्लॉट नं. 34 व 34ए को जोड़कर पटवा ने हवेली बना रखी है उसे कुर्क किया। प्लॉट नं. 33, 35 का क्षेत्रफल 4000 हजार वर्गफीट है। दोनों प्लॉट को एक मानें तो भी क्षेत्रफल 4 हजार वर्गफीट होना चाहिए। इसमें 2500 वर्गफीट ग्राउंड फ्लोर, 3000 हजार वर्गफीट निर्माण पहली मंजिल पर है।

admin