इस फिल्म के बाद बदल गई गजराज राव की ज़िन्दगी, अब अच्छे से पहचानते हैं लोग

विभव देव शुक्ला

फिल्मी दुनिया से जुड़े ऐसे तमाम सितारे हैं जो उम्र का आधा पड़ाव पूरा हो जाने के बाद अपने अभिनय का करिश्मा दिखाते हैं। इस कड़ी में सबसे ताज़ा नाम है, गजराज राव जिन्होंने फिल्मी दुनिया में 25 साल से ज़्यादा का समय पूरा कर लिया है। हाल ही में वह ‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’ में नज़र आए थे और इस फिल्म में भी उनके अभिनय की खूब तारीफ़ हुई थी। उनका मानना है कि यह उनकी ज़िंदगी की दूसरी पारी है।

बधाई हो से मिली पहचान
साल 2018 में बॉक्स ऑफिस पर आई ‘बधाई हो’ उनके फिल्मी जीवन का सबसे अहम मोड था। उस फिल्म के बाद गजराज को काफी लोकप्रियता मिली। एक समाचार समूह से बात करते हुए उन्होंने यहाँ तक कहा कि बधाई हो के बाद उन निर्देशकों के भी फोन आने लगे जिनकी उनसे कभी बात भी नहीं हुई थी।

ज़िन्दगी बदल गई है
इतना ही नहीं कई बड़ी फिल्मों का अवसर भी आया और कई बड़े किरदार निभाने के मौके भी मिलने लगे। कहना गलत नहीं होगा कि बधाई हो के बाद ज़िन्दगी पूरी तरह बदल गई है। इसके अलावा उन्होंने कहा अब लोग मुझे पहले से कहीं बेहतर तरीके से पहचानते हैं और खूब प्यार दे रहे हैं।
इन सारी बातों के अलावा सबसे अच्छी बात यह है कि इस तरह की अच्छी फिल्मों का हिस्सा बनने का मौका मिल रहा है। मुझे अभिनय करते हुए दो दशक से ज़्यादा का समय बीत गया लेकिन जैसा अभी महसूस कर रहा हूँ यह वाकई अलग है और इसकी कोई तुलना भी नहीं है।

खूब कर मिली तारीफ़
हाल ही में गजराज ‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’ में नज़र आए थे और फिल्म में उनके अभिनय की खूब तारीफ़ हुई थी। बधाई हो के बाद इस फिल्म में उन्होंने आयुष्मान खुराना और नीना गुप्ता के साथ दूसरी बार काम करने का मौका मिला। शुभ मंगल ज़्यादा सावधान का लेखन और और निर्देशन हितेश केवले ने किया है। फिल्म में आयुष्मान खुराना, नीना गुप्ता, गजराज राव और जितेंद्र कुमार अहम भूमिकाओं में नज़र आए थे।

admin