Gangubai Kathiawadi के लिए संजय लीला भंसाली की पहली पसंद नहीं थीं आलिया भट्ट

मुंबई। आलिया भट्ट (Alia Bhatt) की फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ (Gangubai Kathiawadi) का टीजर बुधवार को रिलीज हुआ. टीजर में आलिया भट्ट का वो रूप देखने को मिला है, जो कि पहले कभी नहीं देखा गया. 1 मिनट 30 सेकंड का टीजर एक ऐसी छाप छोड़ता है, जिसे देखकर सिर्फ इतना ही कहा जा सकता है कि गंगूबाई के किरदार के लिए आलिया भट्ट से बेहतर कोई और अभिनेत्री नहीं हो सकती थी. हालांकि, क्या आप जानते हैं कि इस फिल्म के निर्माता संजय लीला भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) की पहली पसंद आलिया भट्ट कतई नहीं थी.

दरअसल, बॉलीवुड गलियारों में ऐसी चर्चा है कि संजय लीला भंसाली अपनी इस फिल्म में आलिया भट्ट को कास्ट नहीं करना चाहते थे. उन्होंने आलिया को अपनी फिल्म ‘इंशाअल्लाह’ में कास्ट किया था, जो कि सलमान खान (Salman Khan) के मना करने पर फिलहाल ठंडे बस्ते में चली गई है. आलिया की जगह गंगूबाई काठियावाड़ी में संजय लीला भंसाली रानी मुखर्जी (Rani Mukherjee) या फिर प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) में से किसी एक को लेना चाहते थे.

भंसाली को लगता था कि गंगूबाई के किरदार को प्रियंका या रानी में से कोई भी बहुत अच्छी तरह से निभा सकती हैं. हालांकि, इन खबरों में कितनी सच्चाई है यह तो संजय लीला भंसाली ही जानें, लेकिन इन खबरों पर प्रियंका चोपड़ा पहले ही विराम लगा चुकी हैं. एक इंटरव्यू में प्रियंका ने कहा था कि उन्होंने फिलहाल कोई भी हिंदी फिल्म साइन नहीं की है और न ही किसी फिल्म को लेकर उनकी संजय लीला भंसाली से बात हुई है.

उन्होंने साथ ही यह भी बताया था कि वह दो हॉलीवुड मूवी कर रही हैं, जिनमें से एक की शूटिंग वह कर चुकी हैं. प्रियंका से पहले संजय लीला भंसाली के जेहन में रानी मुखर्जी का नाम था. इसके लिए उन्होंने एक्ट्रेस से चर्चा भी की थी, लेकिन बात बन नहीं पाई. गंगूबाई काठियावाड़ी का टीजर सामने आने के बाद हर ओर आलिया भट्ट की काफी प्रशंसा हो रही है. वह गंगूबाई के किरदार में एकदम फिट बैठती हैं.

अब संजय लीला भंसाली को लगता होगा कि अच्छा हुआ कि उन्होंने इस फिल्म में आलिया भट्ट को कास्ट किया. आलिया ने फिल्म में डायलॉग उसी प्रकार की भाषा में बोले हैं, जैसे कि गैर हिंदीभाषी क्षेत्र से आई महिला बोलती है. गंगूबाई गुजरात से ताल्लुक रखती थीं, लेकिन उन्होंने मुंबई में आकर जो अपनी धाक जमाई वह दिल को छूती है. एक लड़की जिसे जबरन मुंबई के कमाठीपुरा के रेड लाइट एरिया में बेच दिया गया था, वह कैसे मुंबई की लेडी डॉन बन गई, आलिया भट्ट की फिल्म उसी कहानी को दर्शाती है.

admin