गुजरात स्थानीय निकाय चुनाव : उम्मीदवारों के चयन के लिए भाजपा ने शुरू किया फीडबैक लेना

अहमदाबाद । राज्य में स्थानीय निकाय चुनाव का बिगुल बजते ही राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ गई हैं। राजनीतिक दलों ने अपने उम्मीदवारों की चयन प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। भाजपा ने भी उम्मीदवारों के चयन के लिए कार्यकर्ताओं से फीडबैक लेना शुरू कर दिया है। भाजपा ने नगर निगम चुनाव के लिए उम्मीदवाराें के चयन के लिए कुछ मानक बनाए हैं। इसी आधार पर चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों को प्राथमिकता दी जा जाएगी।

इस बीच रविवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मंत्री महेश कासवाला और मुख्य प्रवक्ता यमल व्यास ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया को चुनाव की तैयारियों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि उम्मीदवारों के चयन के लिए टीम का गठन किया गया है। नगरपालिकाओं में वार्डों में संभावित उम्मीदवारों के लिए कार्यकर्ताओं से वार्ता की प्रक्रिया 24, 25 और 26 जनवरी तक पूरी कर ली जाएगी। उन्हाेंने बताया कि जिला पंचायतों, तालुका पंचायतों, नगरपालिकाओं और नगर निगमों के चुनावों में संभावित उम्मीदवारों की चयन प्रक्रिया को तेज करने के लिए पर्यवेक्षकों का तीन सदस्यीय पैनल बनाया गया है। प्रथम चरण में जिलों में यह पर्यवेक्षक 26 और 27 जनवरी के दौरान कार्यकर्ताओं से वार्ता करेंगे। दूसरे चरण में क्षेत्र और जिला समन्वय समिति से नियुक्त निरीक्षक 30 और 31 जनवरी को संयुक्त रूप से कार्यकर्ताओं का पक्ष सुनेंगे।

उन्होंने बताया कि अहमदाबाद महानगर निगम के लिए 12 टीमें, सूरत महानगर के लिए 7 टीमें, वडोदरा महानगर के लिए 5 टीमें, राजकोट महानगर के लिए 5 टीमें और साथ ही जामनगर और भावनगर महानगर के लिए 3 और खेड़ा सहित जिलों के लिए 3 टीमें उम्मीदवारी के लिए कार्यकर्ताओं से वार्ता करेंगी। उन्होंने बताया कि भाजपा महानगर में चुनाव लड़ने वालों के लिए कई मानक बनाए हैं, जैसे उम्मीदवार ने राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए कितना अनुदान दिया है, उम्मीदवार की उसके बूथ में क्या ताकत है, इस उम्मीदवार की सोशल मीडिया पर उपस्थिति कैसी है। यदि पिछले चुनाव में उसे टिकट मिला था, तो उम्मीदवार की स्थिति क्या थी, आदि को देखने के बाद ही उम्मीदवारी तय की जायेगी।

स्थानीय निकाय चुनाव को देखते प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल भी पिछले कई दिन से विभिन्न जिलों में सरपंच संवाद कार्यक्रमों के जरिए कार्यकर्ताओं का पक्ष जान रहे है। पाटिल पहले ही साफ कह दिया है कि 55 वर्ष से अधिक आयु के उम्मीदवारों को महानगर में टिकट नहीं मांगना चाहिए।

स्थानीय निकाय चुनाव को देखते हुए कांग्रेस भी चुनावी मोड में है। कांग्रेस के गुजरात प्रभारी राजीव सातव ने प्रदेश के पदाधिकारिओं के साथ बैठक की। बैठक में उन्होंने बताया कि जिला पंचायतों, तालुका पंचायतों, नगरपालिकाओं और नगर निगमों के चुनावों में संभावित उम्मीदवारों की चयन प्रक्रिया को तेज करने के निर्देश दे दिए गए है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अमित चावड़ा भी जिला पदाधिकारियों के साथ बैठकें कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि गुजरात में छह नगर निगमों में 21 फरवरी, 81 नगरपालिकाओं, 31 जिला पंयायतों और 231 तालुका पंचायतों के लिए 28 फरवरी को मतदान होगा। नगर निगमों के चुनाव की मतगणना 23 फरवरी और नगरपालिकाओं, जिला पंयायतों और तालुका पंचायतों के चुनाव की मतगणना 02 मार्च को होगी।

admin