चांदबाग के इस मंदिर को हिन्दू और मुस्लिमों ने पत्थर सह कर बचाया

विभव देव शुक्ला

राजधानी दिल्ली के तमाम इलाक़ों में पिछले कई दिनों से जम कर हिंसा हुई। उत्तर पूर्वी दिल्ली, जाफराबाद, चाँदबाग, मौजपुर और खजूरी खास यह कुछ इलाके थे जहाँ हालात शुरू से लेकर अंत तक संवेदनशील बने हुए थे। इन जगहों के आम लोगों का बहुत नुकसान हुआ, पूरी घटना के दौरान तमाम लोगों ने अपनी जानें भी गंवाई। लेकिन इन सब के बीच कुछ ऐसे किस्से भी हुए जिनमें मानवता की साफ मिसाल पेश की गई।

दुर्गा फकीरी मंदिर
ऐसा ही एक मामला हुआ दिल्ली के दंगा प्रभावित इलाके चाँदबाग में जहाँ लोगों ने एक दूसरे के लिए धर्म से ऊपर उठ कर सोचा। चाँदबाग में एक दुर्गा फकीरी मंदिर है और यह इलाका ऐसा था जो शुरुआत से ही संवेदनशील था। इसलिए मंदिर पर भी खतरे के पूरे आसार थे लेकिन ऐसे हालात बनने के पहले ही लोग आगे आए। वहाँ रहने वाले आम लोगों ने दुर्गा फकीरी मंदिर को बचाने के लिए मानव शृंखला बनाई, इस शृंखला में हिन्दू समुदाय के लोग तो थे ही साथ ही साथ मुस्लिम समुदाय के लोग भी थे।

पुजारी भी रहे सक्रिय
इस पहल के बाद मंदिर के पुजारी ओम प्रकाश ने इस बारे में मीडिया वालों से बात की। मीडिया वालों से बात करते हुए उन्होंने कहा स्थानीय लोग चाहे वह हिन्दू हों या मुस्लिम सभी पहले से ही सावधान थे। वह लगातार इसकी निगरानी कर रहे थे कि कोई बाहरी मंदिर में दाखिल होकर नुकसान न पहुंचाने पाए। इसके बाद आसिफ नाम के युवक ने भी घटना के बारे में मीडिया से बात की।
आसिफ ने कहा हमने सबसे पहले एक मानव शृंखला बनाई और किसी भी बाहरी को दाखिल नहीं होने दिया। जब हमने ऐसा किया तो हम पर कुछ दंगाइयों ने पत्थर भी फेंके जिसके चलते हम में से तमाम लोग घायल भी हुए। लेकिन हमने किसी भी उपद्रवी को दाखिल नहीं होने दिया क्योंकि वह महज़ एक मंदिर नहीं है बल्कि हमारे लिए गर्व का प्रतीक है। हिंदुओं और मुस्लिमों ने मिल कर इस मंदिर की रक्षा की है और करते रहेंगे।

एसआईटी का गठन
दिल्ली के अलग-अलग इलाक़ों में बड़े पैमाने पर नुकसान की ख़बरें सामने आईं। नुकसान की सबसे बड़ी कीमत चुकाई आम लोगों ने, अब तक लगभग 30 से ज़्यादा लोगों के मारे जाने की खबर है और 200 से अधिक लोगों के घायल होने की। फिलहाल पूरे मामले की जांच के लिए दिल्ली पुलिस अपराध शाखा के तहत एसआईटी का गठन हो गया है।
पुलिस के अधिकारियों ने एक आम नागरिकों और मीडिया वालों से अपील भी की है। अपील में पुलिस ने कहा है जिन लोगों के पास दंगे से जुड़े तस्वीरें, वीडियो या अन्य किसी भी तरह की जानकारी हो वह पुलिस को देकर जांच में मदद करें। जिससे पुलिस के लिए कार्यवाई में आसानी हो।

admin