फाल्गुन मास में इस दिन होगा होलिका दहन, इस दिन न करें ये काम

साल 2021 में 28 मार्च को पड़ रहा है होली का त्‍यौहार और इसी दिन को पूरे विधि-विधान अनुसार होलिका दहन किया जाता है । अगले दिन रंग भरी होली मनाई जाएगी। हिंदू संस्कृति में होली का त्योहार, दो दिवसीय पर्व होता है। इसकी शुरुआत होलिका दहन से होती है। होलिका दहन फाल्गुन मास (Phalgun mas) की पूर्णिमा तिथि को, मनाया जाता है। होलिका दहन और पूजा करने का महत्व पुराणों (Importance puranas) में भी है और ऐसा माना जाता है कि होली की पूजा करने से महालक्ष्मी प्रसन्न हो होती हैं। देवी लक्ष्मी घरों में विराजमान होती हैं और शांति का विस्तार होता है। होलिका दहन के दिन इन कामो को नही करना चाहिए ।

इस दिन न करें येेे काम  

होलिका दहन (Holika Dahan) के दिन भूलकर भी, सफेद खाद्य पदार्थ ग्रहण न करें।

होलिका दहन (Holika Dahan) पूजन के समय, अपना सिर ढंककर ही पूजा करें।

नवविवाहित महिलाओं को, होलिका दहन नहीं देखना चाहिए।

सास और बहु भूलकर भी, एक साथ होलिका दहन नहीं देखें।

होलिका दहन (Holika Dahan) के दिन कोई भी, मांगलिक अथवा शुभ कार्य नहीं करना चाहिए।

होलिका दहन (Holika Dahan) के दिन बेवजह किसी सन्नाटे की जगह, अथवा श्मशान जाने से परहेज करें।क्योंकि इसी दिन कई लोग तांत्रिक क्रियाएं करवाते हैं, जिसका नकारात्मक असर आप पर पड़ सकता है ।

ऐसे करें होलिका दहन (Holika Dahan)
होलिका पूजा (Holika Pooja) के पश्चात, पुनः जल अर्पित करें।मुहूर्त के अनुसार होलिका (Holika ) में स्वयं अथवा परिवार के किसी वरिष्ठ सदस्य से अग्नि प्रज्जवलित कराए।इस आग में किसी भी फसल को सेंक लें और अगले दिन उसे सपरिवार ग्रहण करें।मान्यता है कि ऐसा करने से परिवार पर कोई बुरा साया नहीं पड़ता एवं साथ ही सदस्यों को रोगों से मुक्ति भी मिलती है।

नोट– उपरोक्त दी गई जानकारी व सूचना सामान्य उद्देश्य के लिए दी गई है। हम इसकी सत्यता की जांच का दावा नही करतें हैं यह जानकारी विभिन्न माध्यमों जैसे ज्योतिषियों, धर्मग्रंथों, पंचाग आदि से ली गई है । इस उपयोग करने वाले की स्वयं की जिम्मेंदारी होगी ।

admin