ब्रिटेन में नए वैरिएंट से निपटने के लिए घर घर टेस्टिंग शुरू

लंदन । कोरोना महामारी के बीच ब्रिटेन में आए नए वैरिएंट से अभी मुसीबत कम नहीं हुई हैं। अब ब्रिटेन में नए वैरिएंट की जांच के लिए घर-घर टेस्टिंग शुरू कर दी गई है। ब्रिटेन महामारी की बड़ी दिक्कत में फंसा हुआ है। लॉकडाउन के बीच दक्षिण अफ्रीका से आए नए वैरिएंट ने यहां पर मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ा दी है। अब इससे निजात पाने के लिए मोबाइल टेस्टिंग वैन के जरिए सघन टेस्टिंग की जा रही है। लॉकडाउन के साथ ही अन्य पाबंदियों का भी सख्ती के साथ पालन किया जा रहा है। एक दिन में यहां पर नए वैरिएंट के 105 मामले सामने आए हैं।

उधर, सऊदी अरब ने कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए बीस देशों से आने वाले लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। इस नियम में उसने सऊदी अरब के रहने वाले, डाक्टर और राजनयिकों को छूट दी है। रोक वाले देशों की सूची में भारत भी शामिल है। पाकिस्तान में वैक्सीन लगाने का काम शुरू हो गया है। सबसे पहले पचास साल से ऊपर के डाक्टरों को वैक्सीन दी जा रही है। पाकिस्तान ने चीन से वैक्सीन ली है।

वहीं, सिंगापुर एशिया का पहला देश है, जिसने माडर्ना वैक्सीन को मंजूरी दी है। इस वैक्सीन की पहली खेप मार्च में आएगी। इससे पहले यहां पर फाइजर की वैक्सीन लगाने का काम चल रहा है। आस्ट्रेलिया ने अपने यहां हर उम्र के लोगों को फाइजर की वैक्सीन लगाने की मंजूरी दे दी है। रूस में वैक्सीन लगाने के दौरान भी कोरोना के मरीजों पर नियंत्रण नहीं हो सका है। यहां पर पिछले 24 घंटों के दौरान 16 हजार से ज्यादा नए संक्रमण के मामले सामने आए हैं।

admin