कॉलोनी के सैकड़ों लोग जिससे खरीदते थे सब्जियां, वह निकला पॉजिटिव, हड़कंप

नगर संवाददाता | इंदौर

चंद्रपुरी कॉलोनी में लोगों की जान सांसत में

करीब दो माह से चल रहे लॉक डाउन के बाद संक्रमण पर नियंत्रण नहीं हो रहा है। प्रशासन की लाख हिदायतों के बावजूद लोग सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं जिसके चलते खतरा बरकरार है। ताजा मामला चंद्रपुरी कॉलोनी, मूसाखेड़ी का है। यहां एक सब्जी विक्रेता पॉजिटिव निकला है। चिंता का विषय यह है कि वह पूरे लॉक डाउन के दौरान कॉलोनी व आसपास के लोगों को सब्जियां बेचते रहा। इसके चलते अब सैकड़ों लोगों की जान सांसत में है।

लोगों के मुताबिक उक्त सब्जी विक्रेता जिस मकान में किराए से रहता है, उसका मकान मालिक भी फल विक्रेता है। दोनों ही लॉक डाउन के दौरान से फल-सब्जियां बेचते रहे। इधर लोगों की परेशानी यह थी कि उन्होंने निगम से सब्जियां मंगाने की प्रक्रिया को जटिल समझते हुए इन्हीं से फल-सब्जियां खरीदते रहे। तीन दिन पहले सब्जी विक्रेता को सर्दी-खांसी व सांस लेने में तकलीफ के चलते अस्पताल में दिखाया गया और सेम्पल लिया तो पॉजिटिव निकला।

शुक्रवार को उसकी रिपोर्ट भी मिल गई और रहवासियों ने लिस्ट में उसका नाम-पता देखा तो होश फाख्ता हो गए क्योंकि वे लगातार उसके संपर्क में थे। इधर, मेडिकल व नगर निगम की टीम शनिवार को मौके पर पहुंची और कोविड-19 का रिमार्क लगाने के साथ प्रक्रिया पूरी की।

रहवासियों में डर इस बात का है कि मकान मालिक भी फल बेचता था और किराएदार सब्जी विक्रेता उसके संपर्क में था जबकि लोग दोनों से खरीदी करते थे। दूसरी ओर उक्त मकान भी और भी किराएदार हैं लेकिन किसी को भी क्वारेंटाइन नहीं किया गया।

कंट्रोल की दुकान पर भी मंडराया कोरोना संक्रमण का खतरा

चंद्रपुरी क्षेत्र में रहने वाला एमवाय अस्पताल चेस्ट वार्ड में पदस्थ मेल नर्स भी अप्रैल में संक्रमण की चपेट में आ गया था। उस दौरान भी नगर निगम ने दूसरे मकान को सेनिटाइज कर दिया था। इधर, उक्त मकान को शाम तक सेनिटाइज नहीं किया था। यहीं स्थित एक कंट्रोल की दुकान भी है। जहां न लोगों में मास्क पहनने में जागरुकता है और न ही सोशल डिस्टेंसिंग की। भीड़ होने के कारण यहां भी संक्रमण का अंदेशा बरकरार है।

admin