अगर यह महामारी ‘छलावा’ है तो दुनिया भर में हुई 11.5 हज़ार मौतें भी झूठ हैं?

विभव देव शुक्ला

राजनीति एक ऐसा मुद्दा है जिसका असर देश के लगभग सभी क्षेत्रों में देखने के लिए मिल ही जाता है। राजनीति से निकल कर आने वाली बातों का असर लोगों पर खूब होता है, चाहे बात अच्छी हो या कम अच्छी। इन बातों का दायरा कभी-कभी इतना बढ़ जाता है कि मुद्दे से ज़्यादा चर्चा इन बातों की होने लगती है। ऐसा ही बयान दिया है समाजवादी पार्टी से पूर्व सांसद रमाकांत यादव ने।

कोरोना एक छलावा है
जहाँ देश एक तरफ गंभीर महामारी से जूझ रहा है। ऐसे समय में सांसद महोदय का बयान मुश्किल हालातों से जूझ रही सरकार और जनता पर असर ज़रूर करने वाला है। असर अच्छा होगा या बुरा यह बयान जानने के बाद समझा जा सकता है। सांसद महोदय ने कहा,
‘कोरोना एक छलावा है, कोरोना एक बहकाने वाला मामला है। कोरोना की अफवाह इसलिए उड़ाई गई, मैं दावे के साथ कह रहा हूँ कि हमारे देश में एक भी व्यक्ति कोरोना से मरा हो तो बताइये? लोग कहते हैं जिसको कोरोना हुआ है उससे एक मीटर दूर रहिए, मैं कहता हूँ लाइये मैं गले लगाता हूँ।’

कुछ नहीं है ‘कोरोना’
इसके बाद उन्होंने कहा यह केवल एनआरसी के लिए, सीएए के लिए, महंगाई से भटकाने के लिए, लोग धरना प्रदर्शन न करें इसके लिए लोगों को बहकाया जा रहा है।
‘कोरोना, कोरोना, कोरोना’ यह कुछ नहीं है। सरकार तो बहकाएगी, सरकार शुरू से यही कर रही है। सरकार लोगों का ध्यान नहीं दे रही है बल्कि उनके लिए दिक्कतें खड़ी कर रही है। सरकार को लोगों से फर्क नहीं पड़ता, वह जनता को इन मामलों में फंसा कर रखना चाहती है।

देश और दुनिया के हालात
कहना गलत नहीं होगा कि देश और दुनिया पर कोरोना का भयानक असर हुआ है। हमारे देश में कोरोना वायरस के 298 मामले सामने आ चुके हैं और कुल 4 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा दुनिया के देशों की बात करें तो 2.7 लाख लोग कोरोना वायरस से प्रभावित हैं और 11.5 हज़ार लोगों की मौत हो चुकी है। जिसमें सबसे ज़्यादा प्रभावित लोग चीन, इटली और स्पेन में मौजूद हैं।

admin