बलूचों से डरे इमरान ने ट्विटर और जूम पर कई घंटों तक लगाया प्रतिबंध

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

अज्ञात कारणों से पाकिस्तान में माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर को ब्लॉक कर दिया गया है। कथित तौर पर बताया जा रहा है कि पाकिस्तान बलूचिस्तान से डर गया है और इस कारण ऐसा कदम उठाया। अब ये जानना अहम है कि आखिर ऐसा क्या हो गया जो बलूचिस्तान से पाकिस्तान डरा है?

बलूचिस्‍तान पोस्‍ट की खबर के मुताबिक ट्विटर, उसकी वीडियो स्ट्रिमिंग सर्विस पेरिस्‍कोप, वर्चुअल वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग वेबसाइट जूम को कई घंटों तक के लिए ब्‍लॉक कर दिया।

‘साथ वर्चुअल कॉन्‍फ्रेंस’ से डर गया पाकिस्तान

विश्‍लेषकों के मुताबिक प्रधानमंत्री इमरान खान और पाकिस्‍तान की सेना बलूचों के ऊपर हो रहे अत्‍याचार को लेकर आयोजित हो रहे ‘साथ वर्चुअल कॉन्‍फ्रेंस’ से डर गई थी। इसी वजह से ट्विटर और जूम को कई घंटों तक के लिए बंद कर दिया। साथ फोरम की स्‍थापना अमेरिका में पाकिस्‍तान के पूर्व राजदूत हुसैन हक्‍कानी और स्‍तंभकार मोहम्‍मद ताकी ने की है।

दुनियाभर में इंटरनेट पर निगरानी रखने वाली संस्‍था नेटब्‍लॉक्स डॉट ओआरजी ने बताया कि इन दोनों ही वेबसाइटों पर पाकिस्‍तान में रोक लगाई गई थी। नेटब्‍लॉक्स ने बताया कि पाकिस्‍तान में बहुत कम ऐसे लोग थे, जो इन वेबसाइट्स को एक्‍सेस कर पा रहे थे। कुछ राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि पाकिस्तान सरकार ने इन साइट्स को बंद कराया था क्योंकि वह बलूचों की आवाज को दबाना चाह रही है।

क्यों अचानक किया गया सोशल लॉकडाउन

पाकिस्तान सरकार ने यह कदम ‘साथ फोरम’ के उस एलान के बाद उठाया जिसमें कहा गया था कि वे लोग वर्चुवल कॉन्फ्रेंस करेंगे, जिसमें कई कंभीर मुद्दों पर अपनी बात रखेंगे। ‘साथ फोरम’ के वर्चुवल कॉन्फ्रेंस में ताहा सिद्दीकी, गुल बुखारी, नबी बख्‍श बलोच, अहमद वकास गोराया समेत कई चर्चित लोग अपनी बात रखने वाले थे।

अहमद वकास गोराया ने अधिकारियों पर आरोप लगाया कि पाकिस्तान में रह रहे लोग इस वर्चुवल कॉन्फ्रेंस से नहीं जुड़ पायें इसलिए इस साइट्स को ब्लॉक किया गया, पर अब जल्द ही इस पूरे ही इस पूरे कॉन्‍फ्रेंस का वीडियो जारी किया जाएगा। जिससे जनता इस कॉन्फ्रेंस को देख पाएगी। सरकार की तरफ से इस प्रतिबंध को लागू करने की कोई आधिकारिक वजह नहीं बताई गई है।

वहीं, पाकिस्तान में कोरोना संक्रमण के मामले 40,000 हो गये हैं। अब तक 873 लोगों की मौत हो गयी है। बढ़ते कोरोना वायरस के मामले पर लगाम लगाने के लिए लॉकडाउन किया गया है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का कहना है कि पाकिस्तान लॉकडाउन को लंबा नहीं झेल सकता है।


admin