हुबेई में कोरोना से एक दिन में 242 मौतें,15 हज़ार नए मामले भी आए।

बीजिंग

रिकॉर्ड मौत के बाद शीर्ष अधिकारी जियांग चाओलियांग को कर दिया गया बर्खास्त

चीन के हुबेई प्रांत में घातक कोरोना वायरस से एक ही दिन में रिकॉर्ड 242 लोगों की मौत हो गई और इसके करीब 15,000 नए मामले सामने आए हैं। स्थानीय अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। स्थानीय स्वास्थ्य आयोग के अनुसार बुधवार को हुबेई प्रांत में कोरोना वायरस के 14,840 नए मामले सामने आए हैं।

सरकारी समाचार एजेंसी के अनुसार प्रांत में बुधवार को इससे रिकॉर्ड 242 लोगों की जान चली गई। प्रांत में इसके 48,206 मामलों की पुष्टि होने से इसके तेजी से फैलने को लेकर चिंता बढ़ गई है। मृतकों की संख्या में इजाफा उस समय हुआ है जब हुबेई प्रांत में अगले 14 दिनों के लिए ‘युद्धकालीन नियंत्रण उपायों’ को लागू किया गया है। इस दौरान सभी इमारतों को बंद रखने का आदेश है। सिर्फ उन लोगों को घर छोड़ने की इजाजत है, जो कोरोना वायरस से संक्रमित हैं और डॉक्टर की आवश्यकता है। हुबेई प्रांत में जियांग चाओलियांग को हटाकर शंघाई के मेयर यिंग योंग को नियुक्त किया गया है। चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) ने बताया कि यिंग को सीपीसी हुबेई प्रांतीय समिति के सदस्य और स्थायी समिति के सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया है। जियांग चाओलियांग को अब हटा दिया गया है। पूर्वी चीन के झेजियांग प्रांत के निवासी 62 वर्षीय यिंग ने अपना करियर 1976 में शुरू किया और उन्हें अदालतों सहित चीन की राजनीति और कानूनी मामलों में काम करने का अच्छा अनुभव है।

चीन में 48 हजार 206 मामले

रिपोर्ट में बताया गया है कि 2017 की शुरुआत में वह शंघाई के मेयर बने। वहीं, चीन में 48 हजार 206 मामले सामने आए हैं। इसके कारण चीन में 1365 मौतें हुई हैं। चीन से बाहर इस बीमारी का वायरस 28 देशों के अंदर फैल चुका है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूचओ) के अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की एक टीम आपात स्वास्थ्य स्थितियों से निपटने के लिए प्रभारी ब्रूस एलवर्ड के नेतृत्व में सोमवार रात यहां पहुंची थी। टीम ने कोरोना वायरस के प्रकोप से निपटने को लेकर चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ मिलकर काम शुरू कर दिया है।

कोरोना के मरीजों का पता लगाने के लिए चीन में डोर टू डोर सर्वे

बीजिंग | चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस के मरीजों का पता लगाने के लिए घर-घर जाकर उनकी जांच की जा रही है। इस दौरान यदि किसी मरीज में कोरोना वायरस के लक्षण पाए जा रहे हैं तो उसको तुरंत अस्पताल में भर्ती किया जा रहा है। सरकार की ओर से तमाम जगहों पर इस तरह के अस्पताल बनाए गए हैं। अब एक बात ये भी सामने आ रही है कि कोरोना वायरस से संक्रमित होकर मरने वाले मरीजों की संख्या में दिनोंदिन इजाफा होता जा रहा है। जब इस संक्रमण से मरने वाले मरीजों की संख्या बढ़ने लगी उसके बाद सरकार की ओर से कदम उठाए जाने शुरू किए गए। बीमारी के प्रकोप को देखते हुए प्रशासन की ओर से दो जगहों पर नए अस्पताल रिकॉर्ड समय में तैयार कर दिए गए। इसके अलावा जगह-जगह खुले जिमनेजियम और स्टेडियमों को भी अस्पताल में तब्दील कर दिया गया।

लंदन में एक महिला में मिला कोरोना, यूके में कुल 9 मामले

लंदन | चीन में सैकड़ों लोगों की जान ले चुके कोरोना वायरस ने अब लंदन में दस्तक दे दी है। साउथ लंदन में कोरोना का एक मरीज पाया गया है। इस तरह से अब तक यूएस में कोरोना से पीड़ित होने वाले मरीजों की संख्या 9 तक पहुंच गई है। जिस महिला में कोरोना के वायरस पाए गए हैं फिलहाल उसका इलाज साउथ लंदन के गाइ एंड सेंट थॉमस अस्पताल में इलाज चल रहा है। माना जाता है कि वो महिला कुछ दिन पहले ही चीन से वापस लौटी है, उसी वजह से उसमें कोरोना के लक्षण पाए गए हैं। मेलऑनलाइन की रिपोर्ट के अनुसार गुरूवार की दोपहर को महिला में कोरोना के लक्षण पाए गए उसके बाद उसका इलाज शुरू किया गया। जिस महिला में कोरोना के लक्षण पाए गए उसे अब लंदन के गाइ एंड सेंट थॉमस के विशेषज्ञ एनएचएस सेंटर में स्थानांतरित कर दिया गया है। ये कहा जा रहा है कि इस मामले से वहां पर दहशत फैल सकती है।

admin