गलवान में भारत ने 36 नहीं, 60 चीनी सैनिक मारे थे

वाॅशिंगटन

अमेरिकी अखबार का बड़ा खुलासा

15 जून की रात को पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों ने किसके कहने पर भारतीय जवानों पर धोखे से हमला किया था, इसका सच अब सामने आ गया है। अमेरिकी अखबार ‘न्यूजवीक’ ने एक आर्टिकल में गलवान को लेकर चौंकाने वाला दावा किया है। इसके मुताबिक गलवान घाटी की घटना को खुद चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के इशारे पर अंजाम दिया गया था। हालांकि इसके बावजूद चीन की सेना भारतीय सेना के साहस और पराक्रम के सामने बुरी तरह मात खा गई और चीन की चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार आज तक उस हार को हजम नहीं कर सकी है। आर्टिकल में यह भी कहा गया है कि अपनी बार-बार की नाकामियों से जिनपिंग बहुत ही गुस्से में है।

अमेरिकी अखबार ने खूनी संघर्ष में मारे गए पीएलए के सैनिकों की संख्या भी बताई है। दावे के मुताबिक उस घटना में चीन के 36 नहीं, बल्कि 60 जवान मारे गए थे। गौरतलब है कि चीन की सरकारी मीडिया ने अब तक सिर्फ दो चीनी मिलिट्री अफसरों की मौत की पुष्टि की है और हताहत चीनी जवानों की संख्या को जानबूझकर छिपाकर रखा गया है। आर्टिकल में ये चेतावनी भी दी गई है कि भारतीय सीमा पर चीन की सेना की विफलता के परिणाम आगे सामने आएंगे। जिनपिंग भारत के जवानों के खिलाफ एक और आक्रामक कदम भी उठा सकते हैं।

 

 

admin