श्रीलंका और जिम्बाब्वे का दौरा नहीं करेगी भारतीय टीम : बीसीसीआई

मुंबई

कोरोना का असर… 24 जून से श्रीलंका में तीन ‘वनडे’ व ‘टी-20’ सीरीज और 22 अगस्त से जिम्बाब्वे में तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलना तय हुआ था लेकिन अब हुआ कैंसल

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने कहा है कि अगस्त में तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिए भारतीय क्रिकेट टीम जिम्बाब्वे का दौरा नहीं करेगी। वहीं, श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) ने कहा था कि भारत के साथ जून में प्रस्तावित सीमित ओवरों की सीरीज कोरोनावायरस के कारण स्थगित कर दी गई है।

बीसीसीआई ने एक बयान में कहा, “कोविड-19 खतरों को देखते हुए भारतीय क्रिकेट टीम श्रीलंका और जिम्बाब्वे का दौरा नहीं करेगी। भारतीय टीम को 24 जून से श्रीलंका में तीन वनडे और इतने ही मैचों की टी 20 सीरीज खेलनी थी। वहीं, 22 अगस्त से जिम्बाब्वे में उसे तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलनी थी।” बीसीसीआई ने इससे पहले, 17 मई को एक बयान जारी कहा था कि बाहर प्रशिक्षण करने को लेकर पूरी तरह से सुरक्षित होने के बाद ही बोर्ड अपने अनुबंधित खिलाड़ियों के लिए प्रशिक्षण के लिए कैम्प का आयोजन करेगी। एसएलसी ने एक बयान में कहा था, “भारत का जून में श्रीलंका का प्रस्तावित दौरा तय कार्यक्रम के अनुसार नहीं हो पाएगा। बीसीसीआई ने श्रीलंका क्रिकेट को बताया है कि कोविड 19 महामारी की वजह से मौजूदा हालात में ये क्रिकेट सीरीज करना संभव नहीं है, जिसमें तीन मैचों की वनडे और इतने ही मैचों की टी 20 सीरीज खेली जानी थी।” एसएलसी ने बीबीसीसीआई से अनुरोध किया था कि दौरे को तय कार्यक्रम पर किया जाए।

दर्शकों की मौजूदगी में हो सकती है भारत-आस्ट्रेलिया सीरीज

भारत को इस साल के अंत में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर दर्शकों की मौजूदगी में सीरीज खेलने का मौका मिल सकता है क्योंकि ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने शुक्रवार को कहा कि जिन खेल स्टेडियमों में 40,000 दर्शकों के बैठने की क्षमता है, उन स्टेडियमों को अगले महीने से 10,000 दर्शकों के साथ मैचों या टूर्नामेंटों का आयोजन करने की अनुमति दे दी जाएगी। प्रधानमंत्री ने अपनी वेबसाइट पर एक आधिकारिक बयान में कहा, “40,000 दर्शकों तक की क्षमता वाले आउटडोर आयोजन स्थलों को स्टेप 3 के तहत 25 फीसदी से अधिक टिकट और दर्शकों के साथ आयोजन की इजाजत नहीं दी जाएगी।”

भारत के लिए अगर एक भी टेस्ट खेला तो बहुत खुशी होगी : चहल

भारतीय लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल का मानना है कि जब वह कुलदीप यादव के साथ भारतीय टीम के लिए खेलते हैं तो बल्लेबाजों को अधिक विविधताओं से निपटना होता है। चहल ने ‘वन आन वन’ शो में कहा, हम दोनों कलाई के स्पिनर हैं और शुरुआती दिनों से ही एक साथ गेंदबाजी करते आ रहे हैं। जब हम एक साथ खेलते हैं तो बल्लेबाजों के पास निपटने के लिए अधिक विविधताएं होती है। अगर मैं कुछ अच्छे ओवर करता हूं तो इससे कुलदीप के छोर से भी कुछ अच्छा होगा। चहल, कुलदीप और रवींद्र जडेजा काफी समय एक साथ भारतीय टीम के लिए खेलते आ रहे हैं। उन्होंने कहा, अगर आप एकमात्र स्पिनर के रूप में खेलते हैं तो आपकी जिम्मेदारी ज्यादा बढ़ जाती है।

 

admin