इंदौर तीन दिन बंद

इंदौर/भोपाल

कोरोना का असर… प्रदेश के 43 जिले पूरी तरह बंद, आने-जाने पर रोक, जरूरी सेवाएं ही जारी

मध्य प्रदेश में भी बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों के चलते सोमवार को इंदौर को तीन दिनों यानी 25 मार्च तक के लिए लॉकडहाउन कर दिया गया। जिला प्रशासन इस व्यवस्था को ऐहतियातन आगे कुछ और दिन भी बढ़ा सकता है। इसके लिए जनता से 31 मार्च तक के लिए तैयार रहने को कहा गया है। प्रदेश में कोरोना वायरस के 6 मामले सामने आने के बाद 43 जिलों को लॉकडाउन किया गया है।

आप घर पर ही रहें… आपकी जिंदगी बचाने के लिए सड़कों पर ये अपना घर छोड़कर अकेले निभा रहे हैं ड्यूटी

अब तक भोपाल में एक और जबलपुर में 5 पॉजिटिव मामलों की पुष्टि हुई है। पूरे प्रदेश में हाईअलर्ट घोषित है। हालांकि इंदौर में अब तक कोई भी पॉजिटिव केस सामने नहीं आया है। लॉकडाउन वाले जिलों में उज्जैन, रतलाम, मंदसौर और नीमच भी शामिल हैं। जिलों की सीमाओं को बंद कर दिया गया है। इसका मतलब है कि अब ना कोई बाहर से आ सकेगा और न ही कोई बाहर जा सकेगा। रेल, बस, ऑटो, ई-रिक्शा, अंतरराज्यीय वाहन संचालन प्रतिबंधित कर दिए गए हैं। सिर्फ अत्यावश्यक सेवाएं ही चालू रहेंगी।

प्रदेश के इन जिलों में लॉकडाउन

31 मार्च तक : भोपाल, टीकमगढ़, निवाड़ी, डिंडौरी, रायसेन, राजगढ़, छतरपुर, दतिया, मुरैना, होशंगाबाद, उमरिया और अनूपपुर
3 अप्रैल तक : नरसिंहपुर
24 मार्च तक : सीहोर, शाजापुर, आगर मालवा, रीवा, शिवपुरी, कटनी, ग्वालियर और भिंड
23 मार्च तक : शहडोल, अलीराजपुर
25 मार्च तक : इंदौर, देवास, नीमच, सिंगरौली, गुना, रतलाम, मंडला, मंदसौर, बालाघाट, सिवनी, उज्जैन, श्योपुर, झाबुआ, विदिशा, दमोह, छतरपुर, अशोकनगर

admin