अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद के कार्यकर्ताओं ने मंदिर के सामने बना फ़िल्म का चर्च सेट तोड़ दिया

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

मलयालम अभिनेता टोविनो थॉमस ने दक्षिणपंथी समूह के ‘धार्मिक कट्टरपंथियों’ पर आरोप लगाया है कि इन लोगों ने उनकी फिल्म के सेट को पूरा तोड़ कर रख दिया है। इस सेट को तोड़ने की वजह भी काफी अजीब है।

दरअसल इस सेट पर फिल्म ‘मिन्नल मुरली’ की शूटिंग हो रही थी। अब हिंदू संगठन के लोग इस बात से नाराज थे कि यह सेट पेरियार नदी के किनारे बने आदि शंकराचार्य मठ के पास बनाया गया था। हिंसा की इस घटना के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

सेट तोड़ने वाले हिंदु परिषद के महासचिव हैं

ये घटना केरल के एर्णाकुलम की है। जहाँ एक दक्षिणपंथी हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं के द्वारा इस फिल्म के सेट पर हमला कर उसे तोड़ दिया गया है।

राइट विंग ग्रुप अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद के महासचिव हरि पलोडे के फेसबुक पर इसकी जिम्मेदारी लेने के बाद ये मामला सामने आया। पलोडे ने फेसबुक पर स्वीकार किया कि बजरंग दल के साथ मिलकर उनके ग्रुप ने सेट तोड़ दिया, क्योंकि वो कलाडी में शिव मंदिर के सामने बनाया गया था।

पलोडे ने जिम्मेदारी लेते हुए कहा, “जब वो सेट बना रहे थे तो हमने आपत्ति जताई थी। हमने शिकायत भी दी थी। हमारी विनती करने की आदत नहीं है, इसलिए हमने खुद ही तोड़ने का फैसला लिया। हमें अपने आत्मसम्मान को बचाना है।” हालांकि अब ये पोस्ट हटा दिया गया है।

लाखों खर्च हुए थे इस सेट को तैयार करने में

बताया जा रहा है कि फिल्म सेट बनाने की परमिशन लॉकडाउन से पहले फरवरी में ली गई थी। हालांकि बाद में कुछ लोग इसका विरोध करने लगे। फिल्म ‘मिन्नल मुरली’ में लीड रोल निभा रहे ऐक्टर टोविनो थॉमस ने इस घटना पर काफी नाराजगी जताते हुए कहा है कि फिल्म के सेट को बनाने में काफी खर्च हुआ था और लॉकडाउन के कारण वहां शूटिंग रुकी हुई थी। उन्होंने फिल्म सेट तोड़ने वाले लोगों पर कानूनी कार्रवाई की मांग की है। इस सेट की कीमत करीब 50 लाख रुपये थी।

सीएम ने कार्यवाही करने का दिया आदेश

इस मुद्दे को लेकर राज्य के सीएम पिनरई विजयन ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि जिन लोगों ने यह किया है उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। राज्य में इस तरह के काम करने की आजादी नहीं है। यह घटना दिखाती है कि ऐसा करके राज्य में सांप्रदायिक सद्भावना को ख़राब करने की कोशिश की जा रही हैं। सरकार इस मामले को लेकर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने वाली है इसमें कोई दो राय नहीं हैं।

उन्होंने आगे कहा कि जैसा कि हम सब जानते हैं कि कोरोनावायरस के कारण, सभी शूटिंग बंद कर दी गई थी। अगर फिल्म सेट यहीं रहे, तो इसमें क्या बुराई है? ऐसे कृत्य बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे।

admin