आईएसएल-7 : ब्लास्टर्स से ड्रा खेल चेन्नइयन ने किया सीजन का समापन

गोवा। दीपक टांगरी की भूल के कारण दो बार के चैम्पियन चेन्नइयन एफसी को बोम्बोलिम के जीएमसी स्टेडियम में खेले गए हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सातवें सीजन के अपने अंतिम मैच में केरला ब्लास्टर्स से 1-1 से ड्रा खेलना पड़ा। वैसे, यह बताना जरूरी है कि दोनों टीमें इस सीजन में प्लेआफ की दौड़ से बाहर हो चुकी हैं।

फातखुलो फाखतुलोव ने 10वें मिनट में गोल करते हुए चेन्नइयन को आगे कर दिया था लेकिन 28वें मिनट में टांगरी की गलती के कारण मिले पेनाल्टी पर गोल करते हुए ब्लास्टर्स ने बराबरी कर ली। 80वें मिनट के बाद चेन्नइयन को 10 खिलाड़ियों के साथ खेलते हुए अंततः अंक बांटना पड़ा। यह इस सीजन में चेन्नइयन का 20वां और अंतिम मैच था। तीन जीत, 11 ड्रा और छह हार से यह टीम 20 अंक लेकर 11 टीमों की तालिका में आठवें स्थान पर है।

दूसरी ओर, ब्लास्टर्स का यह 19वां मैच था। उसने आठवां ड्रा खेला। उसके खाते में 17 अंक हैं और वह तालिका में 10वें स्थान पर है। स्कोरलाइन के लिहाज से पहला हाफ बराबरी पर रहा। दोनों टीमों ने एक-एक गोल किए। यह हाफ काफी रोमांचक रहा। इस हाफ में दो बुकिंग भी हुई। चौथे मिनट में चेन्नइयन के मेमो मोउरा और 31वें मिनट में इसी टीम के इनेस सिपोविच को पीला कार्ड मिला।

मैच का पहला गोल चेन्नइयन के लिए फातखुलो फाखतुलोव ने 10वें मिनट में किया। यह गोल एडविन वैंसपॉल की मदद से हुआ। ब्लास्टर्स ने हालांकि 28वें मिनट में हासिल पेनाल्टी पर 29वें मिनट में गोल करते हुए स्कोर 1-1 कर दिया। यह गोल ब्लास्टर्स के लिए गैरी हूपर ने किया। दीप टांगरी की गलती के कारण ब्लास्टर्स को यह पेनाल्टी मिला था। जहां तक खेल के स्तर की बात है तो 52 फीसदी वर्चस्व के साथ ब्लास्टर्स का वर्चस्व रहा।

इस हाफ में ब्लास्टर्स को 6 कार्नर मिले जबकि चेन्नइयन को चार कार्नर मिले। चेन्नइयन ने दूसरे हाफ की शुरुआत में बदलाव किया। मेनुएल लेंजारोते बाहर किए गए और उनकी जगह थोई सिंह ने ली। 50वें मिनट में टांगरी को पीला कार्ड मिला। इसके पांच मिनट बाद सुपर-सब थोई भी बुक किए गए।

दूसरे हाफ में ब्लास्टर्स ने अपने खेल का स्तर ऊंचा कर लिया था और उसकी आक्रमणपंक्ति हूप के नेतृत्व में अधिक सक्रिय हो गई थी। यह अलग बात है कि वह चेन्नइयन का डिफेंस लाइन भेद नहीं पा रहे थे। 72वें मिनट में ब्लास्टर्स के जार्डन मरे को पीला कार्ड मिला।

मरे को चेन्नइयन के बाक्स में बेवजह रिएक्ट करने पर बुक किया गया। मरे ने पेनाल्टी पाने के लिए यह सब किया लेकिन रेफरी ने उन पर बिल्कुल ध्यान नहीं दिया। चेन्नइयन ने अपने गोलस्कोरर फाखलुतोव को 76वें मिनट में बाहर कर इस्माइल गोंकाल्वेस को अंदर लिया। 31वें मिनट में बुक किए जा चुके चेन्नइयन के सिपोविच को 80वें मिनट में दूसरा पीला कार्ड मिला और वह मैदान से बाहर गए। अब चेन्नइयन 10 खिलाड़ियों के साथ खेलने को मजबूर थी। ब्लास्टर्स ने दबाव बनाने के लिए बेकरे कोन को 81वें मिनट में बाहर कर जुआंदे को अंदर लिया। इसके एक मिनट बाद चेन्नइयन ने जाकुब सिल्वेस्टर को बाहर कर धनपत गणेश को मैदान पर बुलाया।

88वें मिनट में जहां चेन्नइयन ने पांडियान श्रीनिवासन को मैदान पर बुलाया वहीं ब्लास्टर्स ने इस सीजन में उसके खोज कहे जाने वाले राहुल केपी को 89वें मिनट में अंदर लिया। इंजुरी टाइम में चेन्नइयन के गोलकीपर विशाल कैथ को पीला कार्ड मिला।

admin