आईएसएल-7 : जरूरी जीत के साथ चौथे स्थान पर पहुंचा नॉर्थईस्ट

गोवा। हाईलैंडर्स नाम से मशहूर नॉर्थईस्ट यूनाइटेड एफसी ने मंगलवार को फातोर्दा के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में खेले गए अपने 19वें दौर के मुकाबले में एससी ईस्ट बंगाल को 2-0 से हराकर हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सातवें सीजन की अंक तालिका में चौथा स्थान हासिल कर लिया है। अब हाईलैंडर्स का सामना अंतिम मुकाबले में केरला ब्लास्टर्स होना है।

ब्लास्टर्स को हराने की सूरत में हाईलैंडर्स प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई कर जाएंगे लेकिन हार या फिर ड्रॉ की सूरत में उनका आगे जाना उन अन्य टीमों के मैचों के नतीजे पर निर्भर करेगा, जो प्लेऑफ की दौड़ में हैं। फिलहाल हाईलैंडर्स सीजन की सातवीं जीत से मिले तीन अंकों के साथ चौथे स्थान पर पहुंच गए हैं।

एफसी गोवा के भी 30 अंक हैं लेकिन गोल अंतर के कारण गोवा तीसरे स्थान पर है। दूसरी ओर, ईस्ट बंगाल की यह 19 मैचों में आठवीं हार है। उसके खाते में 17 अंक हैं और वह 11 टीमों की तालिका में 10वें स्थान पर है।

पहला हाफ में मुकाबला बराबरी का रहा। कोई टीम डेडलाइन ब्रेक नहीं कर सकी। 54 फीसदी बॉल पजेशन के साथ ईस्ट बंगाल का हल्का दबदबा रहा लेकिन बावजूद इसके वह गोल नहीं कर सकी। ईस्ट बंगाल को चार कार्नर मिले और हाईलैंडर्स को तीन। दोनों टीमों ने टारगेट पर एक-एक शॉट्स लिए।

वैसे इस हाफ में दोनों टीमों के डिफेंस ने अपनी भूमिका के साथ न्याय किया। 35वें मिनट में ईस्ट बंगाल के जेजे लालफेखलुवा के पास अपनी टीम को लीड दिलाने का अच्छा मौका था लेकिन उनका हेडर सही दिशा में नहीं जा सका। इस हाफ में ईस्ट बंगाल के दो खिलाड़ियों की बुकिंग हुई। राजू गायकवाड और स्कॉट नेविले को स्टॉपेज टाइम में पीला कार्ड मिला।

हाईलैंडर्स के लिए प्लेऑफ में जाने के लिए इस मैच में जीत अनिवार्य थी और इसी कारण वह दूसरे हाफ में बिल्कुल बदली और आक्रामक रणनीति के साथ मैदान पर उतरी और खेल शुरू होते ही गोल करते हुए लीड हासिल कर ली।

हाईलैंडर्स के लिए यह गोल सुहैर वाडाकेपेडिका ने 46वें मिनट में किया। यह इस सीजन का उनका पहला गोल है लेकिन यह उनकी टीम के लिए एक तरह से वरदान की तरह है क्योंकि आगे जाने के लिए उसे हर हाल में अपने दोनों मैच जरूर जीतने होंगे।

इस गोल के बाद हाईलैंडर्स ने हमले तेज कर दिए। इसी तरह का एक हमला उसने 55वें मिनट में किया। हाईलैंडर्स के खिलाड़ियों को तो सफलता नहीं मिली लेकिन सार्थक गोलुई ने रक्षा के प्रयास में आत्मघाती गोल कर हाईलैंडर्स को 2-0 की लीड दिला दी।

ईस्ट बंगाल ने गोल की चाह में 61वें और 64वें मिनट में दो बदलाव किए। 61वें मिनट में ही ईस्ट बंगाल के मोहम्मद रफीक और 71वें मिनट में गायकवाड को पीला कार्ड मिला। गायकवाड का यह दूसरा पीला कार्ड था, लिहाजा वह मैदान से बाहर गए और ईस्ट बंगाल आगे 10 खिलाड़ियों के साथ खेलने को मजबूर हुई। 76वें मिनट में जेजे का एक फ्रीकिक गोलपोस्ट में जाता दिख रहा था लेकिन हाईलैंडर्स के अनुभवी गोलकीपर सुभाशीष रॉय ने उसे डिफलेक्ट करते हुए दिशाहीन कर दिया।

बेशक जेजे सफल नहीं हो सके, लेकिन हाईलैंडर्स को आत्मघाती गोल की सौगात देने वाले सार्थक ने 87वें मिनट में गोल करते हुए मैच में रोमांच वापस ला दिया। निर्धारित समय के बाद मुकाबला इंजुरी टाइम में चला गया, जहां नॉर्थईस्ट ने किसी तरह से अपना डिफेंस मजबूत रखते हुए 2-1 के साथ सीजन की महत्वपूर्ण जीत अपने नाम की और प्लेऑफ उम्मीदों को जिंदा रखा।

admin