आईएसएल-7 : सुपर-सब पंडिता ने फिर गोवा को हार से बचाया, चेन्नइयन से बांटे अंक

गोवा। सुपर-सब और गेम चेंजर के नाम से मशहूर हो चुके इशान पंडिता द्वारा इंजुरी टाइम में किए गए गोल की बदौलत एफसी गोवा ने हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सातवें सीजन में शनिवार को बोम्बोलिम के जीएमसी स्टेडियम में चेन्नइयन एफसी को 2-2 की बराबरी पर रोक दिया।

चेन्नइयन एफसी जैकब सिल्वेस्टर के 13वें और चांग्ते के 60वें मिनट में किए गए गोल की मदद से इंजुरी टाइम तक 2-1 से आगे थी। लेकिन सुपर सब इशान पंडिता ने एक बार फिर से इंजुरी टाइम में बतौर सब्सीटयूट अपना चौथा गोल करते हुए गोवा को 2-2 की बराबरी दिला दी।

गोवा के लिए पहला इगोर एंगुलो ने 19वें मिनट में पेनाल्टी पर किया। गोवा को 17 मैचों में नौवीं बार ड्रॉ खेलना पड़ा है और टीम 24 अंकों के साथ तीसरे नंबर पर पहुंच गई है। टीम को पिछले छह मैचों से ड्रॉ खेलना पड़ा है। गोवा की पिछले नौ मैचों से अजेय हैं। चेन्नइयन को 18 मैचों में नौवीं बार ड्रॉ खेलना पड़ा है और टीम 18 अंक लेकर आठवें नंबर पर पहुंच गई है।

आईएसएल के इतिहास में चेन्नइयन और एफसी गोवा कभी भी गोलरहित ड्रॉ नहीं खेली है और यहां भी कुछ ऐसा ही हुआ। तीन बदलाव के साथ उतरी चेन्नइयन ने आक्रामक शुरुआत की और 13वें मिनट में ही अपना खाता खोल लिया। टीम के लिए यह गोल स्लोवाकिया के स्ट्राइकर जैकब सिल्वेस्टर ने सेंटर आफ बॉक्स से किया।

हालांकि चेन्नइयन की यह बढ़त ज्यादा देर तक कायम नहीं रह पाई और गोवा ने छह मिनट बाद ही पेनाल्टी पर बराबरी का गोल दाग दिया। चेन्नइयन के एली साबिया पेनाल्टी एरिया के अदंर बॉल को हैंड कर बैठे और रेफरी ने गोवा को पेनाल्टी दे दिया। गोवा के स्टार फुटबालर और इगोर एंगुलो ने 19वें मिनट में किया। एंगुलो पहले प्रयास में ही गोल कर चुके थे, लेकिन रेफरी ने इसे अमान्य करार दे दिया और एंगुलो को दोबारा गोल करने के लिए तैयार होना पड़ा। लेकिन एंगुलो ने दोबारा से गोल करके टीम को 1-1 की बराबरी दिला दी।

एंगुलो का सीजन का यह 12वां गोल है और अब वह टॉस स्कोररों की लिस्ट में एटीके मोहन बागान के रॉय कृष्णा के साथ संयुक्त रूप से टॉप पर पहुंच गए हैं। मैच में बराबरी का गोल खाने के बावजूद चेन्नइयन ने अपना आक्रमण जारी रखा और 40वें मिनट में चांग्ते जबकि 43वें मिनट में सिल्वेस्टर अपनी टीम को बढ़त दिलाने का मौका गंवा बैठे और उन्हें हाफ टाइम तक 1-1 की बराबरी से संतोष करना पड़ा।

दूसरे हाफ के शुरू होने के बाद सिल्वेस्टर के पास 53वें मिनट में एक मौका था और उन्होंने इसे जाया कर दिया। हालांकि चेन्नइयन ने इसके बाद भी अपने प्रयास जारी रखे। 60वें मिनट में गोवा के गोलकीपर धीरज सिंह बॉल को रोकने के प्रयास में आगे निकल गए।

लालियांजुआला चांग्ते ने मौके का फायदा उठाते हुए रीगन सिंह के असिस्ट पर चेन्नइयन को 2-1 की लीड दिला दी। चांग्ते का सीजन का यह पहला गोल है। गोवा ने 66वें मिनट में रोमारियो को बाहर करके इस सीजन में अब तक तीन गोल कर चुके इशान पंडिता को बुलाया। दो मिनट बाद ही चेन्नइयन के रीगन को पीला कार्ड दिखा गया।

79वें मिनट में पूर्व चैम्पियन के मैनुअल लांजरोटे को भी पीला कार्ड दिखा गया। 88वें मिनट में सुपर-सब इशान पंडिता के पास गोवा को बराबरी दिलाने का अवसर आया, हालांकि उनका शॉट उपर से वाइड निकल गया और मुकाबला इंजुरी टाइम में चला गया। लेकिन इशान पंडिता ने हर बार की तरह इस बार भी इंजुरी टाइम में बतौर सब्सटीयूट अपना चौथा गोल करते हुए गोवा को 2-2 की बराबरी दिला दी।

admin