जापानी कंपनी ने 84 हजार कर्मियों का बढ़ाया वेतन

नई दिल्ली


दुनियाभर में छंटनी के उलट आईटी कंपनी केपजेमिनी ने कर्मचारियों का मनोबल और विश्वास बढ़ाने पेश किया अनूठा उदाहरण। जिनके पास प्रॉजेक्ट्स नहीं, उन्हें भी मिलती रहेगी सैलरी, भारत में कंपनी के 1.2 लाख एंप्लायी

कोरोना के कारण पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था तेजी से मंदी की तरफ से बढ़ रही है। ऐसे में तमाम कंपनियों से हजारों की संख्या में लोगों को निकाला जा रहा है। ज्यादातर कंपनियों ने इस साल प्रमोशन और सैलरी हाइक पर रोक लगा दी है, लेकिन फ्रांस की आईटी कंपनी केपजेमिनी ने अपने एंप्लॉयीज का मनोबल और विश्वास बढ़ाने के लिए शानदार सैलरी हाइक का ऐलान किया है। इस फ्रेंच आईटी कंपनी में कुल 2 लाख एंप्लॉयी काम करते हैं, जिनमें से 1.2 लाख भारत में काम करते हैं। भारत में काम करने वाले 70 फीसदी एंप्लॉयीज को हाई सिंगल डिजिट हाइक मिला है। मतलब 84000 एंप्लॉयीज की सैलरी में इजाफा हुआ है। सैलरी में बढ़ोतरी 1 अप्रैल से लागू होगी।

एकोमोडेशन के रूप में 10 हजार अलग से : अगर कंपनी का कोई एंप्लॉयी लॉकडाउन में कहीं फंस गया है तो एकोमोडेशन के रूप में उसे 10 हजार रुपये कैश अलग से मिलेंगे। मंदी के कारण आईटी कंपनियों के पास नए प्रॉजेक्ट्स नहीं आ रहे हैं। फ्रेंच कंपनी ने कहा कि जिन एंप्लॉयी के पास कोई प्रॉजेक्ट नहीं है उन्हें भी सैलरी मिलती रहेगी।

केरल की कंपनी बढ़ा चुकी 25 फीसदी वेतन

इससे पहले केरल के बॉबी चेम्मनूर ग्रुप ने अपने कर्मचारियों को आर्थिक मदद देने के लिए उनका वेतन 25 फीसदी बढ़ाने का फैसला किया था। बॉबी चेम्मनूर ग्रुप की योजना के अनुसार शुरुआती चरणों में ज्वैलरी सेक्टर के कर्मचारियों की 25 फीसदी सैलरी बढ़ाई जाएगी। केरल की यह कंपनी ज्वैलरी सेक्टर के अलावा फाइनेंस, रिजॉर्ट टूर एंड ट्रेवल्स जैसे कारोबार में भी कार्यरत है। कंपनी के चेयरमैन बॉबी चेम्मनूर ने कहा, ‘मुझे अपनी कंपनी में काम करने वाले पांच लाख कर्मचारियों पर गर्व है, जो एक्टिव पार्टनर की तरह काम करते हुए कंपनी की विभिन्न शाखाओं की ग्रोथ और डेवलपमेंट में अपना योगदान देते हैं।’

admin